दिल्ली फायर सर्विस की होटलों, सार्वजनिक इमारतों से अपील, 2 हफ्तों में हटाएं ज्वलनशील सामग्री

मध्य दिल्ली के करोल बाग में चार मंजिला एक इमारत में 12 फरवरी को भयंकर आग लग गई थी जिसमें कम से 17 लोगों की मौत हो गई थी. मरने वालों में वे दो लोग भी शामिल हैं जिन्होंने खुद को बचाने के प्रयास में इमारत छलांग दी थी .

दिल्ली फायर सर्विस की होटलों, सार्वजनिक इमारतों से अपील, 2 हफ्तों में हटाएं ज्वलनशील सामग्री
फाइल फोटो

नई दिल्लीः दिल्ली दमकल सेवा ने पूरे राष्ट्रीय राजधानी में रहने की व्यवस्था मुहैया कराने वाले सार्वजनिक इमारतों के मालिकों से दो सप्ताह के भीतर अपने गलियारों और मार्गें से सभी ज्वलनशील सामग्री हटाने की अपील की. फरवरी में करोलबाग के एक होटल में आग लगने की घटना के आलोक में होटलों, अतिथिशालाओं, नर्सिंग होम्स और अस्पतालों जैसे सार्वजनिक इमारतों को एक नोटिस के माध्यम से यह अपील की गई है. मध्य दिल्ली के करोल बाग में चार मंजिला एक इमारत में 12 फरवरी को भयंकर आग लग गई थी जिसमें कम से 17 लोगों की मौत हो गई थी. मरने वालों में वे दो लोग भी शामिल हैं जिन्होंने खुद को बचाने के प्रयास में इमारत छलांग दी थी .

दिल्ली दमकल सेवा ने नोटिस में हवाला दिया है कि करोलबाग हादसे के दौरान यह महसूस किया गया कि गलियारों, मार्गों और सीढ़ियों पर बड़ी मात्रा में ज्वलनशील पदार्थों के पड़े रहने के कारण तेजी से आग फैली. इसमे कहा गया है कि इस कारण, दमकलकर्मियों के लिए उच्च जोखिम वाले अभियान में मुश्किल आई और लोगों को बचना मुश्किल हुआ.

इस सूची में कालीन, फर्नीचर, दीवार पर पेंटिंग करने वाली सामग्री और हटाए गए छत के पंखों जैसे ज्वलनशील सामग्री को गलियारों, रास्तों, सीढ़ियों और छत से हटाने की जरूरत पर बल दिया गया है. इमारत के मालिकों से सीढ़ियों सहित सभी निकास मार्गों को हमेशा ज्वलनशील सामग्री मुक्त रखने का अनुरोध किया गया है.