दिल्ली : परिवार के डर से पुलिस चौकी में ही फांसी के फंदे पर झूली लड़की, 3 अधिकारी लाइन हाजिर

पुलिस ने बताया कि किशोरी का परिवार पड़ोस के एक लड़के के साथ लड़की की दोस्ती से खुश नहीं था. 

दिल्ली : परिवार के डर से पुलिस चौकी में ही फांसी के फंदे पर झूली लड़की, 3 अधिकारी लाइन हाजिर

नई दिल्ली : जान बचाने के लिए पुलिस की शरण में आई एक नाबालिक लड़की ने पुलिस चौकी में ही आत्महत्या कर ली. पश्चिमी दिल्ली के तिलक विहार पुलिस चौकी में 17 वर्षीय एक किशोरी ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली. किशोरी को 21 वर्षीय एक युवक के साथ मित्रता की वजह से अपने परिवारवालों से डर लग रहा था. उसके परिजन इस मित्रता का विरोध कर रहे थे. पुलिस ने बताया कि किशोरी का परिवार पड़ोस के एक लड़के के साथ लड़की की दोस्ती से खुश नहीं था. 

पुलिस के मुताबिक, शनिवार को किशोरी का भाई घर लौटने पर अपनी बहन को वहां न पाकर संबंधित युवक के घर गया और उसके परिवार पर किशोरी को छुपाने का आरोप लगाया. दोनों परिवारों के बीच लड़ाई शुरू हो गई जिसके बाद दोनों पक्षों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिसकर्मियों के आने के बाद छह से सात लोगों को एक अस्पताल पहुंचाया गया जबकि दोनों परिवारों को पुलिस चौकी ले जाया गया. 

किशोरी दोपहर ढाई बजे के करीब थाने आई और पुलिस को बताया कि वह अपने परिवार के साथ घर नहीं लौटना चाहती है क्योंकि उसे डर है कि घरवाले उसे डांट-फटकार लगाएंगे. पुलिस ने लड़की को नारी निकेतन भेजने का फैसला किया और एक महिला कांस्टेबल को बुलाया. 

इसी दौरान लड़की के पुरुष मित्र का एक संबंधी पहुंचा और आरोप लगाया कि उसे मारा-पीटा गया है. पुलिस चौकी में मौजूद करीब 30 लोगों ने फिर से झगड़ा करना शुरू कर दिया. पुलिस जब इस दौरान इन लोगों को शांत कराने की कोशिश कर रही थी तभी लड़की ने मौका पाकर खुद को पुलिस चौकी में बंद कर लिया और अपने दुपट्टे से फांसी लगा ली. 

पश्चिमी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त विजय कुमार ने बताया कि आत्महत्या के मामले में उप निरीक्षक प्रवेश कौशिक, तिलक विहार चौकी के प्रभारी और महिला कांस्टेबल मनमोहन कौर को जिला पुलिस लाइन भेज दिया गया है. 

(इनपुट भाषा से)