दिल्ली सरकार के मंत्री की बेटी ने मोहल्ला क्लीनिक सलाहकार पद छोड़ा

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन की बेटी सौम्या ने विपक्ष की ओर से भाई-भतीजावाद का आरोप लगाए जाने के बाद आम आदमी मोहल्ला क्लिनिकों के सलाहकार का पद आज छोड़ दिया। हालांकि सौम्या के पिता ने कहा कि उनकी पुत्री को ‘एक भी पाई’ का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

दिल्ली सरकार के मंत्री की बेटी ने मोहल्ला क्लीनिक सलाहकार पद छोड़ा

नई दिल्ली : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन की बेटी सौम्या ने विपक्ष की ओर से भाई-भतीजावाद का आरोप लगाए जाने के बाद आम आदमी मोहल्ला क्लिनिकों के सलाहकार का पद आज छोड़ दिया। हालांकि सौम्या के पिता ने कहा कि उनकी पुत्री को ‘एक भी पाई’ का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री जैन ने कहा, ‘ यह कार्यकारी पद नहीं था। उसने (सौम्या) मोहल्ला क्लिनिकों के लिए सलाहकार के पद से इस्तीफा दे दिया है क्योंकि वह अपनी नियुक्ति को लेकर पैदा हुए विवाद से आहत है। इस तथ्य के बावजूद कि उसने कुछ गलत नहीं किया है, उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है।’ सौम्या मानद् आधार पर इन क्लिनिकों की प्रभारी रही। उसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के स्वास्थ्य सचिव सह मिशन निदेशक के सलाहकार के तौर पर भी नामित किया गया था।

विपक्ष द्वारा भाई-भतीजावाद के आरोपों पर निराशा व्यक्त करते हुए मंत्री ने कहा कि सौम्या को मोहल्ला क्लिनिक खोलने में उसके कार्य के लिए सरकार द्वारा एक भी पाई का भुगतान नहीं किया जा रहा था। अपनी बेटी को मोहल्ला क्लिनिकों के लिए सलाहकार के तौर पर नियुक्त करने के सरकार के निर्णय का बचाव करते हुए मंत्री ने कहा कि सौम्या उनकी राजनीतिक सलाहकार भी है और अक्सर उन्हें सुझाव देती है। आप सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में 1,000 मोहल्ला क्लिनिक खोलने का प्रस्ताव किया है जिसमें से अब तक इस तरह के 100 क्लिनिक खोले जा चुके हैं।