Breaking News
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, 'लंबे गहरे सांस भरने और छोड़ने से शरीर के अंदर के सभी तंत्र ऊर्जावान हो जाते हैं.'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, 'जिसकी इम्युनिटी हाई होगी, उसे कोई रोग नहीं होगा'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, '8 बजे नाश्ता, 12 बजे दोपहर का खाना, शाम को 8 बजे तक खाना खा लें'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, 'भगवान ने हमें इंसान बनाकर दुनिया की सबसे बड़ी दौलत दी है'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, '6 घंटे की नींद जरूर पूरी करें और उससे ज्यादा सोएं भी नहीं'

दिल्ली हाई कोर्ट ने बदला अपना आदेश, विदेशी जमातियों को किया जाएगा शिफ्ट

दिल्ली हाई कोर्ट ने 65 विदेशी जमातियों की याचिका पर सुनवाई के बाद ये फैसला दिया है 

दिल्ली हाई कोर्ट ने बदला अपना आदेश, विदेशी जमातियों को किया जाएगा शिफ्ट
फाइल फोटो

नई दिल्ली: तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) से संबध रखने वाले 65 विदेशी जमातियों की दूसरी जगह शिफ्ट करने की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने स्वीकार कर ली है. याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने विदेशी जमातियों को मीराज इंटरनेशनल स्कूल से निकलकर मौजपुर में स्थित टेक्सण पब्लिक स्कूल में शिफ्ट होने की इजाजत दी है.

बता दें कि 65 जमातियों ने मीराज इंटरनेशनल स्कूल में व्यवस्था ठीक नहीं होने का हवाले देते हुए दूसरी जगह शिफ्ट होने की इजाजत हाई कोर्ट से मांगी थी. उन्होंने याचिका में कहा थी कि अगर उन्हें वहां से जल्द नहीं निकाला गया तो उनके बीमार होने का खतरा अधिक हो जाएगा. लिहाजा, कोर्ट ने अपने 28 मई के आदेश को बदलते हुए इन 65 विदेशियों को टेक्सण पब्लिक स्कूल, मौजपुर में शिफ्ट होने का आदेश दे दिया. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि भविष्य में उनको अगर कहीं भी रहने में दिक्कत हो और उन्हें लगे वहां रहने से उनकी तबियत खराब हो सकती है, तो वो सीधे दिल्ली पुलिस को प्रेजेंटेशन दे और फिर कोर्ट की इजाजत से शिफ्ट हो सकते हैं.

उल्लेखनीय है कि 955 विदेशी जमाती निजामुद्दीन के मरकज में शामिल हुए थे. जिन्हें 30 मार्च से इंस्टिट्यूशनल क्वारेंटिंन सेंटर में रखा गया था. इनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आने के बाद उक्त सभी जमातियों को इंस्टिट्यूशनल क्वारेंटिंन सेंटर में रखा गया था. कुछ दिनों के बाद आए हाई कोर्ट के आदेश के अनुसार सभी विदेशी जमातियों को दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर रहने की व्यवस्था की गई. गौरतलब है कि कुल 35 देशों के विदेशी नागरिक निजमुद्दीन के मरकज में शामिल हुए थे. दिल्ली पुलिस ने इनके खिलाफ दिल्ली के साकेत कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी है. अबतक विदेशी जमातियों के खिलाफ कुल 47 चार्जशीट दायर हुई हैं.

ये भी पढ़ें:- तेहरान: मेडिकल क्लीनिक में हुआ भीषण विस्फोट, 19 लोगों की मौत; कई घायल