दिल्‍ली हाई कोर्ट ने AAP नेता जितेंद्र सिंह तोमर का 2015 का निर्वाचन रद किया

तोमर दिल्ली की त्रिनगर से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक हैं.

दिल्‍ली हाई कोर्ट ने AAP नेता जितेंद्र सिंह तोमर का 2015 का निर्वाचन रद किया

नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट ने 2015 के चुनाव के दौरान अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में गलत जानकारी देने के आरोप में दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री और आप (AAP) नेता जितेंद्र सिंह तोमर के चुनाव को रद कर दिया है. तोमर दिल्ली की त्रिनगर से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक हैं. इस बार भी पार्टी ने उन्हें त्रिनगर सीट से ही मैदान में उतारा है.

फर्जी डिग्री मामले में गिरफ्तार होने के बाद तोमर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बर्खास्त कर दिया था. तोमर पर बार काउंसिल ऑफ दिल्ली के साथ पंजीकरण करते समय जाली प्रमाणपत्र पेश करने का भी आरोप था. जांच के दौरान तोमर ने कथित तौर पर पुलिस को बताया था कि उनके भाई ने उन्हें फर्जी डिग्री प्राप्त करने में मदद की थी.

बीजेपी नेता नंदकिशोर गर्ग की याचिका पर कोर्ट ने 40 पेज का निर्णय सुनाया. गर्ग ने आरोप लगाया कि 2015 के विधानसभा चुनाव में तोमर ने अपने चुनावी हलफनामे में गलत सूचनाएं दीं और जानकारियों को छुपाया. नामांकन फार्म में अपनी गलत शैक्षणिक योग्‍यता बताई. उस चुनाव में नंद किशोर गर्ग, तोमर के खिलाफ चुनाव लड़े थे.

aap

कोर्ट ने अपने निर्णय में कहा कि तोमर ने अपने शैक्षणिक योग्‍यता के संबंध में गलत जानकारी दी. उन्‍होंने गलत तरीके का इस्‍तेमाल किया और इस कारण वोटरों को गलत सूचना मिली. कोर्ट ने कहा कि आप नेता ने कानूनी तरीके से लॉ की डिग्री धारण नहीं की और वकील बनने के लिए गलत पंजीकरण कराया. इन वजहों से उन्‍होंने चुनाव के वक्‍त जो नामांकन फॉर्म भरा, वो गलत था.

इसमें ये भी कहा गया कि गर्ग ये साबित करने में भी कामयाब रहे कि तोमर ने अवध यूनिवर्सिटी में जो दो साल के बीएससी कार्यक्रम करने की बात कही है, वह भी गलत है. कोर्ट ने कहा, ''चूंकि तोमर ग्रेजुएट नहीं हैं और तीन साल की एलएलबी के योग्‍य भी नहीं हैं...इस कारण उनकी एलएलबी की डिग्री का अस्तित्‍व नहीं रह जाता और इस आधार पर उनका बार काउंसिल ऑफ दिल्‍ली में वकील के रूप में पंजीकरण भी अवैध हो जाता है...''

दिल्ली: सीलमपुर में हुई हिंसा और दंगे के आरोपी अब्दुल रहमान को AAP ने दिया टिकट, उठे सवाल

उल्‍लेखनीय है कि दिल्‍ली में आप ने सभी 70 सीटों के लिए प्रत्‍याशी घोषित कर दिए हैं.