लॉकडाउन: कल से प्रतिदिन 4 लाख लोगों को भोजन कराएगी सरकार- सीएम केजरीवाल

आज दो लाख और कल से चार लाख गरीबों को खाना खिलाएगी दिल्ली सरकार

लॉकडाउन: कल से प्रतिदिन 4 लाख लोगों को भोजन कराएगी सरकार- सीएम केजरीवाल
प्रेस वार्ता करते दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण सम्पूर्ण लॉकडाउन है. इसी बीच देश की राजधानी के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने गरीब परिवारों को दो वक्त की रोटी मुहैया कराने का निर्णय लिया है. शुक्रवार को सीएम केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस वार्ता करते हुए प्रतिदिन 2 लाख लोगों को दो वक्त की रोटी मुहैया कराने की बात कही. उन्होंने बताया कि इस योजना को साकार रूप देने के लिए दिल्ली के 325 स्कूलों में खाना खिलाने की व्यवस्था की गई है. केजरीवाल ने कहा कि 28 मार्च से इस संख्या को दौगुना कर दिया जाएगा. जिसके बाद 4 लाख लोग प्रतिदिन खाना खा सकेंगे. 

सीएम केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार के कुल 224 रैन बसेरे चल रहे हैं. जिसमें रहने वाले 20 हजार लोगों को प्रतिदिन खाना खिलाया जा रहा है. लेकिन उन्होंने पाया कि रैन बसेरे कम पड़ रहे हैं और प्रतिदिन खाने वाले लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है. कई स्थानों से खबर आ रही थी कि वहां लोग भूखे हैं. जिसके बाद दिल्ली सरकार ने रैन बसेरों को बड़े पैमाने पर बढ़ाने का फैसला लिया है. 

उन्होंने आगे बताया कि आज यानी 27 मार्च से सरकार दिल्ली के 325 स्कूलों के अंदर दोपहर और रात में खाने का इंतजाम करने जा रही है. जिसमें प्रत्येक स्कूल में दोपहर और रात के समय 500-500 लोग खाना खा सकेंगे. इसके साथ ही 224 रैन बसेरों में भी खाना बढ़ाया गया है. कल तक हम प्रतिदिन 20 हजार लोगों को खाना खिला रहे थे, लेकिन अब इसे 10 गुना बढ़ा कर 2 लाख  कर दिया गया है. यानी अब प्रतिदिन 2 लाख लोगों को खाना खिलाया जाएगा. उन्होंने बताया कि यह संख्या कल यानी 28 मार्च से बढ़ कर दोगुनी हो जाएगी. कल से दिल्ली सरकार 4 लाख लोगों को प्रतिदिन खाना खिलाएगी. हम केंद्रों को जगह-जगह बांट रहे हैं, ताकि लोगों को खाना खाने के लिए ज्यादा दूर तक चल कर नहीं जाना पड़े.

विधायकों को अपने क्षेत्र में भूखों को खाना खिलाना सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी:-

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैंने अपने सभी विधायकों को बोला है कि उनकी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र के अंदर समाज के लोगों के साथ मिल कर सुनिश्चित करें कि कोई भूखा न सोने पाए. इस दौरान सामाजिक दूरी भी बनी रहे, इसका अवश्य ध्यान रखना का भी निर्देश दिया गया है. उन्होंने बताया कि कई सारी सामाजिक और धार्मिक संस्थाएं मदद के लिए साथ आई हैं, जिसमें ईस्कॉन, राधा स्वामी और गुरूद्वारा वाले बहुत मदद कर रहे हैं. यह सरकार की भी मदद कर रहे हैं और खुद भी खाने के कई केंद्र चला रहे हैं. इसके अलावा भी कई संस्थाएं मदद कर रही हैं. 

दिल्ली में रह रहे देश भर के लोग अब हमारे अपने हैं:-

सीएम ने कहा कि पिछले दो-तीन दिनों से झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी के सोशल मीडिया पर संदेश आ रहे हैं जिसमें वे कह रहे हैं कि झारखंड और बंगाल के जितने लोग दिल्ली में रह रहे हैं, उनका ख्याल रखिए. केजरीवाल ने कहा कि मैं सभी लोगों से कहना चाहता हूं कि दिल्ली की सीमाओं के अंदर जो लोग रह रहे हैं, उन सभी लोगों की जिम्मेदारी दिल्ली सरकार की है. यह सभी लोग बिहार, झारखंड, बंगाल, तमिलनाडु, केरला या कहीं के रहने वाले हों, लेकिन अब वो हमारे साथ हैं और वो अब हमारे हैं. आप सभी बिल्कुल चिंता मत कीजिए. एक-एक व्यक्ति का हम ख्याल रखेंगे. एक-दो दिन कुछ दिक्कतें आई थी, लेकिन अब किसी को खाने की दिक्कत नहीं होने देंगे. 

ये भी पढ़ें:- PM मोदी का पूरी दुनिया में चला जादू, UK भी फॉलो करने पर मजबूर, पूरे ब्रिटेन में बजवाई 'ताली'