दिल्लीः ऑड ईवन स्कीम के खिलाफ दायर याचिका पर NGT ने सुनवाई से किया इनकार

 सुनवाई के दौरान NGT ने याचिकाकर्ता गौरव बंसल से ने पूछा कि आखिर कौन से नियम के आधार पर इस याचिका को दायर किया गया है.

दिल्लीः ऑड ईवन स्कीम के खिलाफ दायर याचिका पर NGT ने सुनवाई से किया इनकार
फाइल फोटो

नई दिल्लीः राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (NGT) ने दिल्‍ली सरकार (Delhi Governmnet) के ऑड-ईवन स्‍कीम (Odd Even Scheme) को लागू करने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया है. दिल्ली सरकार 4 से 14 नवंबर के बीच दिल्ली मे ऑड ईवन सिस्टम करने की घोषणा कर चुकी है. सुनवाई के दौरान NGT ने याचिकाकर्ता गौरव बंसल से ने पूछा कि आखिर कौन से नियम के आधार पर इस याचिका को दायर किया गया है. जिसके बाद याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका वापस ले ली.

दरअसल, वकील गौरव कुमार बंसल की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर ऑड-इवेन योजना के प्रभाव का आकलन किया और यह पाया कि इसके लागू अवधि में शहर की वायु गुणवत्ता इसके लागू नहीं रहने की अवधि की तुलना में और खराब हो गई. 

बता दें कि दिल्‍ली (Delhi) में बढ़ते प्रदूषण के स्‍तर को रोकने के लिए केजरीवाल सरकार (Kejriwal Govt)  ने बड़ा कदम उठाते हुए फिर से ऑड-ईवन स्‍कीम (Odd Even Scheme) को लागू करने का ऐलान किया है. इसके तहत राष्‍ट्रीय राजधानी में फि‍र से 12 दिनों के लिए ऑड-ईवन स्‍कीम को लागू किया गया है. दिल्‍ली में यह व्‍यवस्‍था 4 से 15 नवंबर तक लागू रहेगी. यानि दिवाली के बाद यह व्‍यवस्‍था शुरू की जाएगी.

दिल्ली में नवंबर 2019 में किस दिन चलेंगी ईवन नंबर की गाड़ियां...
4, 6, 8, 10, 12 और 14

और इस दिन चलेंगी ऑड नंबर की गाड़ियां...
5, 7, 9, 11, 13 और 15

इसके साथ ही दिल्‍ली सरकार लोगों को प्रदूषण से बचाने के लिए मास्‍क भी बांटेगी. प्रदूषण की शिकायतों के लिए वॉररूम भी बनाया जाएगा. इसका ऐलान करते हुए अरविंद केजरीवाल की तरफ से कहा गया कि पटाखों से फैले प्रदूषण (Pollution) की वजह से लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है. हम दिल्ली के लोगों से आह्वान करते हैं कि वे पटाखे नहीं जलाएं. 

छोटी दीवाली के दिन पूरी दिल्ली के लिए लेज़र शो का आयोजन किया जाएगा, जिसमें एंट्री फ्री होगी. उन्‍होंने कहा कि उम्मीद है उसके बाद दिल्ली वाले पटाखे नहीं जलाएंगे केजरीवाल ने कहा कि हम पेड़ लगाने के लिए जनता को जोड़ेगे. जनता हमें एसएमएस करे और हम उन्‍हें पौधे की होम डिलीवरी करवाएंगे.