close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली: मदद के बहाने ATM में घुसकर करते थे लूट, पुलिस के हत्थे चढ़े 3 बदमाश

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पिछले चार साल से इस धंधे से जुड़े हैं. इनके निशाने पर वो लोग होते थे, जो पहली बार या फिर एटीएम कार्ड से पैसे निकालने में सहज नही होते थे.

दिल्ली: मदद के बहाने ATM में घुसकर करते थे लूट, पुलिस के हत्थे चढ़े 3 बदमाश
आरोपियों ने बताया कि जब कोई शख्स एटीएम से पैसे निकालने जाता था, तब पीछे खड़े होकर एटीएम पिन देख लेते थे.

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने तीन ऐसे शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो एटीएम कार्ड बदल कर लोगों के एकाउंट्स से उनकी गाढ़ी कमाई निकाल लेते थे. क्राइम ब्रांच की टीम ने पीछाकर तीनों बदमाशों को अरेस्ट किया है. पीछा करने के दौरान बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग भी की. भीड़ होने के चलते पुलिस ने इन पर गोली नहीं चलाई. इनकी गिरफ्तारी दक्षिण दिल्ली के नेल्सन मंडेला मार्ग से हुई है. पकड़े गए बदमाशों का नाम आदिल, आबिद और शाकिब है. तीनों हरियाणा के रहने वाले हैं. पुलिस को इनके पास से 95 एटीएम कार्ड, एक कार, एक पिस्टल ओर कुछ कारतूस बरामद हुए हैं.

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पिछले चार साल से इस धंधे से जुड़े हैं. इनके निशाने पर वो लोग होते थे, जो पहली बार या फिर एटीएम कार्ड से पैसे निकालने में सहज नही होते थे. पैसे निकालने के दौरान कई बार जब लोग विरोध करते थे, तब बंदूक की नोंक पर उनके एटीएम से पैसे निकाल लेते थे. शुरुआती जांच में पुलिस 5 केस खोलने का दावा कर रही है. आरोपियों ने बताया कि वो अपने पास कई बैंको के एटीएम कार्ड रखते थे. वो ऐसे एटीएम  के पास खड़े होते थे, जहां सुनसान हो या भीड़ कम हो.

आरोपियों ने बताया कि जब कोई शख्स एटीएम से पैसे निकालने जाता था, तब पीछे खड़े होकर एटीएम पिन देख लेते थे. जब एक बार या दो बार में एटीएम से पैसे नही निकलते थे तो मदद करने के नाम पर उनको अपनी बातों में फंसा लेते थे. तभी उनका दूसरा साथी एटीएम के अंदर जाता था. उस शख्स का पैसा निकलवाने के नाम पर एटीएम कार्ड बदल देता था और हूबहू उसी बैंक का दूसरा एटीएम कार्ड दे देता था.

ज्यादातर लोग बिना देखे एटीएम कार्ड लेकर चले जाते थे. फिर उनके अकॉउंट से पैसे निकाल लेता था. अकॉउंट में ज्यादा पैसे होने पर दूसरे एकाउंट में पैसा ट्रांसफर भी कर लेते थे. ये  आरोपी अपने पास हमेशा पिस्टल भी रखते थे. जब लोग विरोध करते थे तब पिस्टल के दम पर एटीएम के जरिये उनके एकाउंट्स से पैसे निकाल लेते थे.