close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भाई-बहन ने रची 3 साल के मासूम के अपहरण की साज़िश, मांगी थी 5 करोड़ की फिरौती

पुलिस ने सूझ बूझ दिखाते हुए परिवार को किडनैपर्स को मैसेज में उलझाने के लिए कहा, परिवार ने ऐसा ही किया इसके बाद किडनैपर्स ने मैसेज करके 5 करोड़ की मांग की...

भाई-बहन ने रची 3 साल के मासूम के अपहरण की साज़िश, मांगी थी 5 करोड़ की फिरौती
सख्ती से पूछताछ के बाद रात करीब 2 बजे के आसपास लड़की ने पुलिस को बताया कि पास में ही एक किराए के कमरे में बच्चा बंद है

नई दिल्लीः अपने बच्चे को गोद में लेकर बैठी हुई मां को अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि अब उसका 3 साल का मासूम बच्चा उसके पास वापस लौट आया है, वो बार बार बच्चे को गले से लगा रही है उसके सर पर हाथ फेर रही है, बच्चे के पिता भी बेहद भावुक है और अब जाकर उनकी जान में जान आई है. असल में इन मां बाप का इकलौता 3 साल का बच्चा गुरुवार (11 अक्टूबर) शाम दिल्ली के घिटोरनी इलाके से अपने घर के पास खेलता हुआ अचानक लापता हो गया, काफी ढूंढने के बाद भी बच्चा नहीं मिला. परिवार ने पुलिस को जानकारी दी पास में लगे एक सीसीटीवी कैमरे को खंगाला गया उसमे दिखा कि कोई शख्स बच्चे को गोदी में लेकर जा रहा है.

मामले की तफ्तीश शुरू हुई और कुछ ही देर में बच्चे के पिता अनुज के मोबाईल पर एक अंजान नंबर से वॉट्सऐप मैसेज आया, मैसेज में लिखा था.

'ऐसे बच्चा नहीं मिलेगा, घर से भीड़ को बाहर भेजो, तुम्हारा बच्चा हमारे पास है, चालाकी मत करना, जो कहा जाए वो करो...'

इसके बाद परिवार बेहद डर गया और इस बात की जानकारी पुलिस को दी, पुलिस ने सूझ बूझ दिखाते हुए परिवार को किडनैपर्स को मैसेज में उलझाने के लिए कहा, परिवार ने ऐसा ही किया इसके बाद किडनैपर्स ने मैसेज करके 5 करोड़ की मांग की. बच्चे के पिता ने इतने पैसे न होने की बात कही फिर मामला 5 करोड़ से 2 करोड़ फिर एक करोड़ पर आया.

साउथ-वेस्ट के डीसीपी देवेंद्र आर्य ने बताया की एक तरफ परिवार किडनैपर्स को बातों में उलझा रहा था तो दूसरी तरफ पुलिस इस नंबर की डिटेल्स के लिए टैक्निकल सर्विलांस की मदद ले रही थी, थोड़ी देर में पुलिस को इस नंबर के मालिक के बारे में पता चला, पुलिस को पता चला कि ये नंबर बच्चे के घर में ही कोई इस्तेमाल कर रहा है. कुछ देर बाद पुलिस को पता चला कि इसी परिवार के घर में किराए पर रह रही एक लड़की इस्तेमाल कर रही है, पुलिस ने तुरन्त महिला पुलिसकर्मियों को मदद से इस लड़की से पूछताछ शुरू की और सख्ती से पूछताछ करने के बाद इस लड़की ने पुलिस के सामने खुलासा किया कि उसने ही इस साजिश को रचा है उसे पैसो की जरूरत थी, इसके बाद एक तरफ उस नंबर से अब भी मैसेज आ रहे थे और फाइनल डील 48 लाख तक हुई थी, किडनैपर ने बच्चे के पिता से पैसो की फोटो भी वॉट्सऐप पर मंगाई थी.

पड़ोस के घर में बांध कर रखा था बच्चे को
सख्ती से पूछताछ के बाद रात करीब 2 बजे के आसपास लड़की ने पुलिस को बताया कि पास में ही एक किराए के कमरे में बच्चा बंद है . पूरी रात पुलिस बच्चे को ढूढ़ती रही और शुक्रवार सुबह मौके पर पुलिस पहुचीं तो देखा कि घर के बाहर ताला लगा हुआ था और बच्चे को हाथ पैर और मुंह बांधकर रखा गया था, पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया, बच्चे को बांधने की वजह से उसके थोड़े निशान पड़े हुए है..तफ्तीश में पता लगा कि इस किडनैपिंग को बेहद सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया गया, बच्चे के घर में करीब डेढ़ साल पहले किराए पर रहने आया एक परिवार ने इस साजिश को अंजाम दिया, रिया नाम की ये लड़की दिल्ली यूनिवर्सिटी में फर्स्ट ईयर की छात्रा है और इसका भाई नाबालिग है अभी स्कूल में है, इनकी मां प्राइवेट नौकरी करती है.

पूछताछ में इन्होंने बताया कि बच्चे को किडनैप करने के पीछे दो वजह है पहली ये कि बच्चे के दादा गुस्से में रहते थे कई बार इस लड़की के नाबालिग भाई को डाट दिया करते थे और कभी गुस्से में थप्पड़ भी माए दिया करते थे, पूछताछ में रिया के नाबालिग भाई ने बताया कि वो इस बुजुर्ग से बदला लेना चाहता था साथ ही इन्हें पैसो की भी जरूरत थी.

जांच में ये भी साफ़ हुआ कि इन दोनों भाई बहनों ने बेहद शातिराना तरीके से इस किडनैपिंग को अंजाम दिया, इन्होंने अगस्त से ये प्लानिंग शुरू की पहले घर के पास स्टॉल लगाने वाले एक शख्स का नंबर इन्होंने बातो बातो में लिया और फिर उस नंबर से अपने फोन में वॉट्सऐप शुरू किया और उसका ओटीपी लेने के लिए एक बार रिया फिर से उस स्टॉल वाले के पास गई और ओटीपी लेकर वॉट्सऐप शुरू किया, साथ ही किडनैपिंग के बाद बच्चे को रखने के लिए कुछ ही दिन पहले पास में ही एक कमरा इन्होंने किराए पर लिया था.

बच्चे की मां शोभना का कहना है इसे यकीन नहीं हो रहा कि उसके किराए पर रहने वाले भाई बहन ने ही इस अपहरण की साजिश रची..शुरुआत में किडनैपर रिया ने तो अपना गुनाह कबुल लिया लेकिन उसका भाई पुलिस को उसकी बहन के साथ उसके दोस्त की इंवॉलमेंट के बारे में झूठ बोलता रहा लेकिन सख्ती से पूछताछ में उसने अपना जुर्म कुबूल लिया. जिस दौरान परिवार बच्चे को ढूढ़ रहा था, नाबालिग लड़का अंदर बाहर आकर नजर रख रहा था और बहन छत से बच्चे के पिता को वॉट्सऐप पर मैसेज के रही थी. फ़िलहाल रिया जो 19 साल की है इसे अपहरण और फिरौती के मामले में गिरफ्तार कर लिया है साथ ही वारदात में शामिल इसके नाबालिग भाई को पकड़ लिया.