close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली पुलिस ने एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया शातिर बदमाश, हत्या के मामले में चल रहा था फरार

26 सितंबर को भीड़ वाले मार्केट में आरोपी अनवर उर्फ राजू बेचैन व रिजवान अली ने हाजी मोहम्मद हसन उर्फ कलुआ की गोली मारकर हत्या कर दी थी

दिल्ली पुलिस ने एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया शातिर बदमाश, हत्या के मामले में चल रहा था फरार
वारदात वाली जगह पर लगे सीसीटीवी में आरोपी का चेहरा साफ नज़र आ रहा था

नई दिल्ली: दिल्ली के न्यू उस्मानपुर में 26 सितंबर को सरेआम हत्या करने वाले एक आरोपी को दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया. करोल बाग के शंकर चौक पर शुक्रवार देर रात मुठभेड़ में बदमाश के पैर में गोली मारी गई, जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. इसकी पहचान यूपी के बुलंदशहर के सांखली गांव के रहने वाले रिजवान अली (21) के तौर पर हुई. इस पर हत्या और जानलेवा हमले के दो मामले दर्ज हैं. इससे एक पिस्टल, तीन कारतूस, तीन खाली खोखे और एक स्कूटर बरामद हुई है. पुलिस मुख्य आरोपी राजू उर्फ बेचैन की तलाश कर रही है.

डीसीपी राजेश देव ने बताया कि 26 सितंबर को भीड़ वाले मार्केट में आरोपी अनवर उर्फ राजू बेचैन व रिजवान अली ने हाजी मोहम्मद हसन उर्फ कलुआ की गोली मारकर हत्या कर दी थी. वारदात के बाद दोनों आरोपी फरार हो गए. लेकिन वारदात वाली जगह पर लगे सीसीटीवी में आरोपी का चेहरा साफ नज़र आ रहा था. पुलिस ने छानबीन शुरू की तो पता चला कि रुपयों की लेन-देन में वारदात को अंजाम दिया गया है. लोकल पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच ने भी आरोपियों की तलाश शुरू की.

एसीपी जसबीर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर नीरज चौधरी, एसआई कुलदीप सिंह, मनोज यादव, मिंटू, एएसआई सतीश, रमेश, राजेश समेत 14 पुलिस वालों की एक टीम बनाई गई. इस बीच शुक्रवार रात को क्राइम ब्रांच को सूचना मिली कि हत्याकांड में शामिल एक आरोपी धौलाकुंआ के पास मौजूद है. वह एयरपोर्ट की ओर से आने वाले यात्रियों को लूटने की फिराक में है. सूचना के बाद पुलिस ने तुरंत वहां ट्रैप लगाया. इस बीच आरोपी एक स्कूटी पर दिखा. पुलिस ने जिप्सी लगाकर आरोपी को रोकने का प्रयास किया तो आरोपी स्कूटी छोड़कर पास की झाड़ियों में घुस गया. इस बीच आरोपी रिजवान ने पिस्टल निकालकर पुलिस टीम पर तीन राउंड गोलियां चला दीं. गनीमत यह रही कि गोली किसी पुलिसकर्मी को नहीं लगी.

पुलिस टीम ने भी पांच राउंड गोलियां चलाईं. जिसमें से एक गोली रिजवान की टांग में लगी. उसे काबू कर हॉस्पिटल पहुंचाया गया. पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह मुंबई में रहकर वेल्डर का काम करता था. राजू के कहने पर वह अक्सर उसके साथ मिलकर क्राइम करता था. इससे पूर्व उसने राजू के साथ मिलकर राजस्थान के गंगा नगर में एक युवक पर गोली चला दी थी. उस मामले में वह गिरफ्तार भी हुआ था. अब उसने राजू के कहने पर हाजी हसन की हत्या कर दी थी. राजू ने उसे हत्या के बाद पांच लाख रुपये देने का वादा किया था. पुलिस उससे पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है.