close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली पुलिस ने 333 बच्चों को परिवार से मिलवाया, 57 अगवा लोग भी छुड़ाए गए

ऑपरेशन मिलाप के तहत दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की मुहिम. इस साल अब तक लोकल पुलिस ने क्राइम ब्रांच की एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को अपहरण के 20 मामले ट्रांसफर हुए हैं.

दिल्ली पुलिस ने 333 बच्चों को परिवार से मिलवाया, 57 अगवा लोग भी छुड़ाए गए

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में मासूम बच्चों के गुमशुदगी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. जिसको लेकर दिल्ली पुलिस ने ऑपरेशन मिलाप चलाया है. इस ऑपरेशन के तहत पुलिस अपनो से बिछड़े लोगों को अपनो से मिलवाती है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने इस साल जनवरी से अब तक ऑपेरशन मिलाप के तहत 333 बच्चों को उनके घरवालों से मिलवाया है, ये वो बच्चे हैं जो अलग अलग कारणों जैसे रास्ता भूलने,गलती से दिल्ली वाली ट्रेन में बैठ जाने,घर से भागकर दिल्ली आ जाने जैसे कारणों से दिल्ली पहुँच जाते हैं.

क्राइम ब्रांच रेलवे स्टेशनों ,बस स्टैंड ,होटलों और अस्पतालों और दूसरी जगहों पर खोजी अभियान चलाती रहती है,और ऐसे बच्चों की पहचान कर उन्हें उनके घरवालों से मिलवाती है.

क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजन के मुताबिक उनकी एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट इस दिशा में बहुत बेहतरीन काम कर रही है. कई बच्चे ऐसे भी होते हैं जो अपने घर का पता नहीं बता पाते. ऐसे बच्चों की काउंसिलिंग होती है और फिर जांच के बाद उनके घरवालों को खोजने में कई कई दिन लग जाते हैं और उसके बाद बच्चों के घरवाले मिल पाते हैं. एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बच्चों से जुड़ी तमाम एजेंसियों और एनजीओ के संपर्क में रहती है.

एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने दिल्ली से इस साल अभी तक 57 अगवा लोगों को भी अपहरण करने वाले चंगुल से छुड़ाया है,जिसमें 14 नाबालिग और 37 लड़कियां थीं. ऐसे सभी मामलों में किडनैपिंग करने वाले कई गैंग पकड़े गए हैं.
इस साल अब तक लोकल पुलिस ने क्राइम ब्रांच की एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को अपहरण के 20 मामले ट्रांसफर हुए हैं.