close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली पुलिस ने कार्ड क्लोनिंग कर ठगी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गैंग का किया पर्दाफाश

एटीएम सिस्टम का फायदा उठाने के लिए विदेश से आकर करते थे एटीएम की ठगी, पुलिस ने दो विदेशियों को किया गिरफ्तार...

दिल्ली पुलिस ने कार्ड क्लोनिंग कर ठगी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गैंग का किया पर्दाफाश
एटीएम क्लोनिंग और स्किमिंग के जरिये एटीएम से काफी पैसा निकालने के बाद ये लोग वापस अपने देश बुल्गेरिया चले जाते

नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस ने बुल्गेरिया के रहने वाले दो विदेशियों को गिरफ्तार कर एटीएम कार्ड की क्लोनिंग और स्किमिंग के जरिए एटीएम से पैसे निकाल लेते थे. इसके लिए ये बाकायदा टूरिस्ट वीज़ा पर भारत आते और आलीशान होटल में रुकते थे. एटीएम क्लोनिंग और  स्किमिंग के जरिये एटीएम से काफी पैसा निकालने के बाद वापस अपने देश बुल्गेरिया चले जाते. कई सालों से इस तरह ठगी करने के बाद इस बार ये दोनों पुलिस के हत्थे चढ़ गए, पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि भारत में एटीएम सिस्टम इतना असुरक्षित है कि यहां ठगी करना बेहद आसान है, इसलिए वो यहां आते थे,आरोपियों के पास से 24000 यूरो मिले हैं.

नई दिल्ली के डीसीपी मधुर वर्मा ने ज़ीन्यूज़ को बताया कि 'पुलिस को 26 मई को जानकारी मिली कि खान मार्किट के एचडीएफसी बैंक के एटीएम में एक विदेशी को संदिग्ध हालत में गार्ड ने पकड़ लिया है,उसके बाद पुलिस मौके पर पहुचीं और विदेशी को एटीएम क्लोनिंग उपकरण और बड़े पैमाने पर क्लोनिंग किये हुए एटीएम कार्ड बरामद हुए ,पूछताछ में विदेशी ने बताया कि वो बुल्गेरिया का रहने वाला है और उसका नाम तसवेटेलिन एंगेलोव है' 

जब तुगलक रोड थाने में केस दर्ज कर जांच शुरू हुई तो पता चला कि इस ठगी के गैंग का मास्टरमाइंड पटपड़गंज इलाके में एक आलीशान होटल में रुका है,जिसका नाम रुस्लान पेट्रोव मेटोडीएव है, पुलिस ने जब उसके कमरे में छापा मारा तो रुस्लान को 24000 यूरो और कार्ड क्लोनिंग के उपकरणों के साथ पकड़ा गया,आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि यूरोप में तकनीक के हिसाब से एटीएम मशीनें बेहद सुरक्षित हैं कि एटीएम की क्लोनिंग शुरू करते ही पकड़ में आ जाती है,जबकि भारत में एटीएम मशीनें तकनीक के हिसाब से इतनी कमजोर हैं कि यहां ठगी कर पैसा निकालना बेहद आसान है,इसलिए वो पिछले 3 सालों से टूरिस्ट वीज़ा पर भारत आते हैं और पैसा निकाल कर चले जाते हैं.

यहां तक की वो यूरोप के एटीएम कार्ड का डाटा अवैध तरीके से खरीदकर भारत में एटीएम से उनके अकॉउंट से पैसे निकाल लेते थे,फिर निकले हुई रुपये को यूरो या डॉलर में बदलवा लेते थे. और वापस अपने देश बुल्गेरिया चले जाते थे. एक वारदात के सामने आने के बाद पुलिस भी लोगों से अपील कर रही है कि वो जब भी एटीएम से पैसे निकालने जाए तो सावधान रहें और इस बात का ध्यान रखे कि कहीं किसी ने कोई उपकरण एटीएम मशीन में तो नहीं लगाया है. क्योंकि आपकी सावधानी ही आपको इन ठगों से बचा सकती है.