दिल्ली पुलिस के पास भी हैं बेल्जियन मेलिनोइस डॉग, बगदादी को पकड़ने में निभाई थी अहम भूमिका

बेल्जयिन मेलिनोइस एक ऐसे डॉग की खास ब्रीड है जो दो फीट गहरे गडढे में छिपे सबूत भी ढूंढ निकालता है. बेल्जियन मालिंस (Belgian malinois) की अद्भुत क्षमता के चलते व्हाइट हाउस की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. 

दिल्ली पुलिस के पास भी हैं बेल्जियन मेलिनोइस डॉग, बगदादी को पकड़ने में निभाई थी अहम भूमिका

नई दिल्ली: आईएसआईएस के चीफ अबू बकर अल बगदादी को ढूंढकर मारने में अमेरिकी सेना की मदद करने में बेल्जियन मेलिनोइस (Belgian Malinois) या बेल्जियम सेफ्फोर्ड नस्ल के कुत्तों का अहम योगदान रहा. आपको जानकर हैरानी होगी कि दिल्ली पुलिस के डॉग स्क्वैड में भी बेल्जियन मेलिनोइस (Belgian Malinois) या बेल्जियन सेफ्फोर्ड नस्ल के 5 कुत्ते शामिल हैं. ये 5 कुत्ते भी उसी प्रजाति है जिसने अबू बकर अल बगदादी को ढूढं कर मारने में अमरिकन डेल्टा फ़ोर्स को मदद की थी.

ऐसा बताया जा रहा है कि कुल 14 बेल्जियम मेलिनोइस डॉग्स को दिल्ली पुलिस के बेड़े में शामिल होना है. इनके ट्रेनर ने बताया कि ये कुत्ता डाबर मेन, लेब्रा, जर्मन शेफफोर्ड से बेहद तेज है, इसके भागने और सूंघने की क्षमता भी अभूतपूर्व है. इसकी यही खासियत इसको सबसे अलग बनाती है. 

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने इस कुत्ते की तस्वीर के साथ ट्वीट किया कि यही वो बहादुर कुत्ता है जिसने यूएस आर्मी के ऑपरेशन के दौरान आईएसआईएस के मुखिया अबू बकर अल बगदादी को पकड़ने और उसे मारने में बेहद ही खास भूमिका निभाई. अमेरिकी राष्ट्रपति के ट्वीट करने की देर थी कि कुत्ते की इस खास नस्ल को लेकर कई किस्से सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगे. कोई इसे कमांडो कुत्ता बताने लगा. तो किसी ने ये दावा किया इस बेहद ही बलशाली कुत्ते को यूएस आर्मी में अफसर का रैंक मिला है. अलग अलग लोग और अलग अलग दावे अचानक से सोशल मीडिया पर चर्चा में आ गए.

बेल्जियन मेलिनोइस (Belgian malinois) प्रजाति के ये कुत्ते खासे आक्रामक होते हैं. यह एक मध्यम आकार की नस्ल वाला कुत्ता है. मेलिनोइस नाम फ्रांस के एक शहर पर रखा गया है. इस ब्रीड के कुत्ते का उपयोग मुख्य रूप से विस्फोटक और नशीले पदार्थ का पता लगाने के लिए होता है. यह कुत्ते फिदायिन अटैक और आतंकी हमले का मुकाबला करने में सक्षम होते हैं. इस डॉग का वजन 25 से 30 किलो होता है और 12 से 15 साल तक जीवित रहते हैं. काले खड़े कान इसकी खास पहचान हैं. 

दो फीट गहरे गडढे से ढूंढ निकालता है सबूत
बेल्जयिन मेलिनोइड एक ऐसे डॉग की खास ब्रीड है जो दो फीट गहरे गडढे में छिपे सबूत भी ढूंढ निकालता है. बेल्जियन मेलिनोइस (Belgian malinois) की अद्भुत क्षमता के चलते व्हाइट हाउस की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. व्हाइट हाउस की सिक्योरिटी में तैनात करने से पहले अधिकारियों द्वारा दुनियाभर में एक सर्वे के बाद इस डॉग को चुना गया था. 

यह भी पढे़ंः ओसामा का ठिकाना सूंघकर कर दिया था पाकिस्तान को नंगा

ये भी है खासियत 
यह डॉग 9 गज की दूरी से गंध को पहचानकर शिकारी की तलाश कर सकता है. यही नहीं 24 घंटे बाद भी व्यक्ति के रास्ते से गुजरने की गंध को पहचान लेता है.

मल्टी टास्कर होते हैं बेल्जियन मेलिनोइस 
कुत्तों की अन्य प्रजातियों की तुलना में बेल्जियन मेलिनोइस ब्रीड के डॉग कहीं बेहतर साबित हो रहे हैं. इस प्रजाति के डॉग 25 से 30 किलोमीटर लगातार चल सकते हैं. इनके आक्रमण और दुश्मन को घायल करने की क्षमता भी दूसरी प्रजातियों से अलग है. इसलिए इन्हें मल्टी-टास्कर भी कहा जाता है. अब तक 250 से अधिक मामलों में डॉग स्कवॉयड ने हमलावरों, विस्फोटकों को पकड़ने में मदद की है.