close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रदूषण: चार दिन की छुट्टियों के बाद खुले दिल्ली के स्कूल, मास्क लगाकर पढ़ने पहुंचे बच्चे

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चार दिन की छु्ट्टियों के बाद बुधवार को स्कूल खुल गए हैं.

प्रदूषण: चार दिन की छुट्टियों के बाद खुले दिल्ली के स्कूल, मास्क लगाकर पढ़ने पहुंचे बच्चे
दिल्ली में प्रदूषण से बचने के लिए मास्क लगाकर स्कूल में पढ़ने जाते बच्चे.

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में चार दिन की छु्ट्टियों के बाद बुधवार को स्कूल खुल गए हैं. इस दौरान सुबह-सुबह वायु प्रदूषण से बचाव के लिए छात्र-छात्राएं मुंह पर मास्क लगाकर पढ़ने के लिए निकले. भारी प्रदूषण के कारण सरकार ने दिल्ली के सभी स्कूलों को पांच नवंबर तक के लिए बंद कर दिया था.

दिवाली के बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में वायु गुणवत्ता गिरकर 410 पर पहुंच जाने के बाद पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने 1 नवंबर को दिल्ली-एनसीआर में वायु आपातस्थिति की घोषणा कर दी, जिसके बाद राज्य सरकार ने सभी स्कूलों को पांच नवंबर तक बंद करने के आदेश दे दिए थे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को इस निर्णय की घोषणा करते हुए ट्वीट किया था, "पराली के धुंए के कारण दिल्ली में प्रदूषण उच्च स्तर पर पहुंच गया है. इसलिए सरकार ने सभी स्कूलों को पांच नवंबर तक बंद रखने के का निर्णय लिया है." हालांकि दिल्ली में प्रदूषण के स्तर में कमी आई है, लेकिन अभी नोएडा में प्रदूषण का स्तर अभी भी चिंताजनक बना हुआ है.

दिल्ली-एनसीआर में आज सुबह मंगलवार की तुलना में प्रदूषण कम दर्ज हुआ है. सुबह 6 बजे दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बेहद ख़राब रही. वहीं, नोएडा में हवा अब भी ख़तरनाक स्तर पर बनी हुई है.

दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 356, गुरुग्राम में 389 जबकि नोएडा में एक्यूआई 412 बना हुआ है. बता दें कि एक्यूआई के 400 स्तर को गंभीर माना जाता है.