दिल्ली: यमुना में नहाने गए तीन दोस्तों की मौत, एक बाल-बाल बचा

यमुना नदी के वजीराबाद के पास सूर घाट पर हुआ हादसा.

दिल्ली: यमुना में नहाने गए तीन दोस्तों की मौत, एक बाल-बाल बचा

नई दिल्‍ली: उत्तरी दिल्ली के तिमारपुर इलाके में रविवार दोपहर यमुना में नहाने आए चार लड़के गहरे पानी में डूबने लगे. शोर-शराबा होने पर वहां मौजूद लोगों ने एक युवक को तो सकुशल बाहर निकाल लिया, जबकि तीन लड़के डूब गए. सूचना मिलते ही पुलिस के अलावा बोट क्लब के गोताखोर मौके पर पहुंच गए. काफी मशक्कत के बाद डूबे हुए लड़कों को यमुना से निकालकर कश्मीरी गेट स्थित सुश्रुत ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां तीनों को मृत घोषित कर दिया गया. मृतकों की शिनाख्त आयुष कुमार (16 ), विकास (17 ) और रामकिशन (19) के रूप में हुई है. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सब्जी मंडी मोर्चरी भेज दिया है.  

पुलिस के मुताबिक आयुष कुमार, विकास और रामकिशन व बाकी तीनों लड़के नया बाजार लाहौरी गेट इलाके में रहते हैं. आयुष पास के सरकारी स्कूल में आठवीं कक्षा का छात्र है. रविवार को छुट्टी होने की वजह से आयुष, विकास, रामकिशन, दुर्गा शंकर व बाकी दो लड़कों ने मौज-मस्ती का प्लान बनाया. सभी छह दोस्त वजीराबाद के पास सूर घाट पर नहाने चले गए. आयुष, विकास, रामकिशन व दुर्गा पानी में नहाने लगे, जबकि बाकी दोनों लड़के उनके कपड़ों की रखवाली करने लगे. इस बीच चारों नहात हुए गहरे पानी में चले गए. बाहर बैठे लड़कों ने दोस्तों को डूबते हुए देखकर शोर मचा दिया.

वहीं पास में मौजूद गोताखोरों ने दुर्गा शंकरको सकुशल निकाल लिया, जबकि बाकी तीनों डूब गए. मामले की सूचना मिलते ही पुलिस के अलावा बोट क्लब के इंचार्ज हरीश कुमार मौके पर पहुंचे. आधा दर्जन गोताखोरों की टीम ने डूबे हुए लड़कों को पानी से बाहर निकाल लिया. इधर सूचना मिलते ही मृतकों के परिजन मौके पर पहुंच गए. तीनों लड़कों की मौत से उनके परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल है. तिमारपुर थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.