Delhi Violence: हिंसा भड़कने के बाद कमान संभालने मैदान में उतरे अजीत डोभाल

उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर फैली हिंसा में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 180 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. सोमवार से शुरू हुआ उपद्रवियों का तांडव मंगलवार को भी जारी रहा.

Delhi Violence: हिंसा भड़कने के बाद कमान संभालने मैदान में उतरे अजीत डोभाल
अजीत डोभाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून (CAA) को लेकर फैली हिंसा में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 180 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. सोमवार से शुरू हुआ उपद्रवियों का तांडव मंगलवार को भी जारी रहा. ताजा अपडेट ये है कि जाफराबाद से लेकर मौजपुर और इसके आसपास के अन्य इलाकों में बेहद कड़ी सुरक्षा और कर्फ्यू लगा हुआ है. दिल्ली पुलिस हर गली मोहल्ले में जाकर गश्त कर रही है. 

इससे पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) भी हिंसा वाले क्षेत्रों का जायजा लेने के लिए डीसीपी नार्थ ईस्ट के दफ्तर में पहुंचे थे. उनके साथ मीटिंग में स्पेशल कमिश्नर, सतीश गोलचा, ज्वाइंट कमिश्नर, आलोक कुमार और डीसीपी वेद प्रकाश सूर्या मौजूद थे.

ये भी देखें- 

मंगलवार रात साढ़े 11 बजे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल हिंसा प्रभावी क्षेत्रों का जायजा लेने सीलमपुर पहुंचे थे. उनके साथ दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव, दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक, दिल्ली पुलिस पीआरओ एम एस रन्धावा व दिल्ली पुलिस के अन्य उच्च अधिकारी मौजूद थे.

अजीत डोभाल ने हिंसा ग्रस्त जाफराबाद, सीलमपुर, मौजपुर, बाबरपुर, भजनपुरा, बृजपुरी आदि इलाकों का दौरा किया. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के दौरे के दौरान ही भजनपुरा इलाके में लोगों ने लाठियां लहराईं और जयश्रीराम के नारे भी लगाए. साथ ही बाइक पर बैठे कुछ शरारती तत्वों ने भी नारेबाजी की.

ये भी देखें: PHOTOS में देखें प्रभावित इलाकों के अभी कैसे हैं ताजा हालात

वहीं बृजपुरी में दंगा रोधी दस्ता द्वारा फ्लैग मार्च किया गया. NSA के पूरे रुट पर पत्थर पड़े थे साथ ही जली हुई गाड़ियां भी थीं.

बता दें कि दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को ट्वीट कर जानकारी दी थी कि बुधवार (26 फरवरी) को उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले के सभी स्कूल बंद रहेंगे. यानी जिले के सभी प्राइवेट और सरकारी स्कूल नहीं खुलेंगे. 

इसके अलावा, शिक्षा मंत्री ने यह भी बताया था कि सभी स्कूलों की गृह परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. मनीष सिसोदिया ने एक बार फिर सीबीएसई से भी बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने की अपील की थी. इससे पहले सोमवार (24 फरवरी) को भी मनीष सिसोदिया ने इस इलाके के स्कूलों के बंद रखने की घोषणा की थी.