#DelhiFire, भीषण हादसे से एक दिन पहले भी आग की चपेट में आया था अनाज मंडी इलाका

आग की बड़ी घटना के बाद प्रशासन सतर्क नहीं हुआ. 

#DelhiFire, भीषण हादसे से एक दिन पहले भी आग की चपेट में आया था अनाज मंडी इलाका

नई दिल्ली: दिल्ली (delhi) के रानी झांसी रोड (Rani Jhansi Road) इलाके में स्थित अनाज मंडी (anaj mandi) में लगी भीषण आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई है. एक दिन पहले शनिवार को ही इस इलाके में स्थित एक खिलोनों की फैक्ट्री में भीषण आग लगी थी लेकिन प्रशासन ने इससे कोई सबक नहीं लिया. 

खिलोने की फैक्ट्री में लगी आग का वीडियो सामने आया है जिसे देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह आग कितनी भयानक थी लेकिन प्रशासन ने इसके बाद सतर्क नहीं हुआ. 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को हुए हादसे की जांच के लिए मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. इसी के साथ मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 1-1 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया. 

प्रधानमंत्री कार्यालय (pmo) ने मुआवजे का ऐलान किया है. पीएमओ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये देने की घोषणा की है. पीएमओ ने हादसे में घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की भी घोषणा की है. घटना स्थल पर पहुंचे मनोज तिवारी ने ऐलान किया है कि बीजेपी मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये और घायलों को 25-25 हजार रुपये देगी. 

बता दें रविवार को रानी झांसी रोड की अनाज मंडी इलाके में रविवार को भीषण आग लगने की घटना में अब तक 43 लोगों के मारे जाने की खबर है. यह इलाका पुरानी दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित फिल्मिस्तान सिनेमा के पास है. इस आग में अभी तक 52 लोगों को बचाया जा चुका है.

ऐसा बताया जा रहा है कि यह आग आज सुबह करीब 05.30 बजे तीन घरों में लगी, यहां गत्ते और कागज की अवैध फैक्ट्री चल रही थी. जिस वजह से आग फैली और उसने तीन घरों की दो मंजिलों को अपनी चपेट में ले लिया.