close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा के छोटे भाई का निधन, 5 दिन पहले ICU में किए गए थे भर्ती

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के छोटे भाई धर्मेंद्र हुड्डा का गुरुवार रात पीजीआईएमएस स्थित आपातकालीन विभाग के आईसीयू में उपचार के दौरान निधन हो गया. 

पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा के छोटे भाई का निधन, 5 दिन पहले ICU में किए गए थे भर्ती
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के छोटे भाई धर्मेंद्र हुड्डा का गुरुवार रात पीजीआईएमएस स्थित आपातकालीन विभाग के आईसीयू में उपचार के दौरान निधन हो गया. वह पिछले पांच दिनों से आईसीयू में भर्ती थे और निमोनिया रेसपेरेटरी व खांसी की समस्या से पीड़ित थे.

धर्मेंद्र ने रात दस बजे उपचार के दौरान दम तोड़ दिया.धर्मेन्द्र हूड्डा का अंतिम संस्कार रोहतक के रामबाग श्मशान भूमि में किया गया उनके अंतिम संस्कार में भाग लेने पहुँचे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी ग़ुलाम नबी आज़ाद ने जी मीडिया से कहा ये दुख की घड़ी है और इस दुख तमाम कांग्रेसजन हुड्डा परिवार के साथ खड़े हैं ऊपर वाले से प्रार्थना अर्चना करते हैं कि वो इस दुख को सहने की उठा परिवार को ताक़त दें.

धर्मेन्द्र हुड्डा के अंतिम संस्कार में भाग लेने पहुँची हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने कहा कि वो हुड्डा जी के छोटे भाई थे परिवार को संभालते थे तमाम ज़िम्मेदारी निभाते थे उनसे भूपेंद्र हुड्डा का गहरा रिश्ता था उनके जाने का दुख बहुत है हमें भगवान हुड्डा परिवार को हिम्मत दे.

धर्मेन्द्र हुड्डा के बड़े भाई और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि वो मुझसे छोटा ज़रूर थे लेकिन ज़िम्मेदारियों में वो मुझसे बड़े थे क्योंकि परिवार के सारी ज़िम्मेदारी उनके कंधों पर थी वो परिवार को एकजुट करने में सबसे अहम भूमिका निभाते थे. मुझे कभी भी किसी काम का बोझ नहीं डाला उन्होंने साथ ही ज़िम्मेदारियाँ ख़ुद निभाते थे आज उनके नहीं रहने से मैं अपने आपको अकेला महसूस कर रहा हूँ.

धर्मेंद्र हूड्डा के भतीजे और रोहतक के पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने जी मीडिया से कहा कि वो हमारे परिवार की रीढ़ की हड्डी थे वो तमाम लोगों को एकजुट रखते थे वो बहुत बड़े फाइटर थे तमाम परेशानियों के बावजूद कभी भी उन्होंने अपने ऊपर बीमारी को हावी नहीं होने दिया कई बार वो हॉस्पिटल आए और सकुशल वापस घर को लौट जाते थे इस बार भी हमें उम्मीद थी कि वो जल्द ही ठीक होकर हम सबों के बीच में होंगे लेकिन भगवान को कुछ और ही मंज़ूर था.

धर्मेन्द्र हुड्डा के अंतिम संस्कार में भाग लेने पहुँचे कांग्रेस के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि इस दुख की घड़ी में हम सब उनके साथ है भगवान उनकी हिम्मत दे इस दुख सहने की ताक़त दे.