समय के साथ बदल रहा दिल्ली वक्फ बोर्ड का कल्चर, ड्रेस कोड भी लागू

दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड चेयरमैन अमानतुल्लाह खान के निर्देश पर लगातार बदलाव देखने को मिल रहे हैं.

समय के साथ बदल रहा दिल्ली वक्फ बोर्ड का कल्चर, ड्रेस कोड भी लागू

नई दिल्ली: दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड चेयरमैन अमानतुल्लाह खान के निर्देश पर लगातार बदलाव देखने को मिल रहे हैं और अब जिस तरह से बोर्ड के अंदर और बाहर वर्क कल्चर बदला है उसको देख कर बिल्कुल ऐसा नहीं लगता कि ये वही वक़्फ़ बोर्ड है जिसमें क़दम रखते ही किसी यतीम संस्था का अहसास होता था. क्योंकि वक्फ बोर्ड के ऑफिस से लेकर उनके स्टाफ और काम करने के तरीके की अगर बात की जाए तो सारा काया पलट होते दिख रहा है. अगर आप अब बोर्ड के पुराने आफ़िस दरियागंज में कदम रखेंगे तो आपको लगेगा की ग़लती से आप किसी कारपोरेट आफिस में तो नहीं आ गये हैं.

दरअसल इस सब के पीछे बोर्ड चेयरमैन अमानतुल्लाह खान का ये तर्क है कि दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड क़ोम का एक बहुत अहम इदारा है जिसको अगर अपने पैरों पर खड़ा कर दिया गया तो मुस्लिम समुदाय के बहुत से मसलों का हल आसानी से मुमकिन है इस लिए उनका मानना है कि बोर्ड की जायदाद की सही देखभाल और आमदनी में वुद्धि करने के साथ साथ बोर्ड को पुराने वर्क कल्चर से निकलना बहुत ज़रूरी है,

अमानतुल्लाह खान का कहना है कि दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड के बारे में लोगों की राय बदलनी बहुत ज़रूरी है तभी लोगों के विश्वास में इज़ाफ़ा होगा और ज़्यादा से ज़्यादा लोग अपनी समसयाओं के समाधान के लिए दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड कार्यालय आएंगे. इसी सोच के तहत अमानतुल्लाह खान ने वर्ड स्टाफ़ के लिए ड्रेस कोड लागू करने के निर्देश दिए और अब इसका पालन करते हुवे पूरे स्टाफ़ को दो जोड़े ड्रेस के दिये जा रहे हैं.

जिसका पालन करना हर मुलाज़िम के लिए ज़रूरी होगा, तफ़सील के अनुसार बोर्ड के मेम्बर हिमाल अख़्तर ने पिछले दिनों बोर्ड के पूरे स्टाफ़ को अपने हाथों से ड्रेस तक़सीम की ड्रेस कोड में मर्द स्टाफ के लिए सफेद शर्त ओर सलेटी कलर की पेंट जबकि महिला स्टाफ़ के लिए सफेद शलवार और स्लेटी कलर की कमीज तय की गई है,

बोर्ड के मेम्बर हिमाल अख़्तर ने ड्रेस विवरण करते हुवे कहा कि ड्रेस कोड से बोर्ड स्टाफ़ को नई पहचान मिलेगी और आफ़िस के अंदर भी पेशेवराना वर्क कल्चर आएगा इसी के साथ साथ बोर्ड स्टाफ़ को भी अपने अंदर बदलाव महसूस होगा,उन्होंने नसीहत करते हुए कहा कि आप की तमाम सुविधाओं का खयाल रखना हमारी ज़िममेदारी है.

जबकि बोर्ड के मान सम्मान को बचाकर रखना आप सब का कर्तव्य है.बोर्ड आफ़िस में ड्रेस कोड लागू होने और आफ़िस से नई ड्रेस मिलने पर स्टाफ़ काफी खुश नजर आया और उन्होंने इस के लिए बोर्ड के चेयरमैन श्री अमानतुल्लाह खान और तमाम बोर्ड मेम्बरों को धन्यवाद किया