वॉशिंग मशीन में छुपाकर ला रहे थे ड्रग्स, दिल्ली में गिरफ्तार हुए तीन सप्लायर

ट्रक में 108 नई वाशिंग मशीन भरी हुई थीं. तलाशी लेने पर वाशिंग मशीन के अंदर से प्लास्टिक की 35 बोरी में रखी 700 किलो अफीम बरामद हुई.

वॉशिंग मशीन में छुपाकर ला रहे थे ड्रग्स, दिल्ली में गिरफ्तार हुए तीन सप्लायर
अफीम की सप्लाई पंजाब और हरियाणा में की जानी थी

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ड्रग्स सप्लाई करने वाले तीन सप्लायर को गिरफ्तार किया है. तस्कर मध्य प्रदेश के नीमच से ट्रक में वाशिंग मशीन के अंदर अफीम छुपाकर दिल्ली ला रहे थे. बाद में इसकी सप्लाई पंजाब और हरियाणा में की जानी थी. आरोपियों की पहचान जसबीर सिंह, जरनैल सिंह और रविंद्र सिंह के रूप में हुई है. उनके पास से 700 किलो अफीम बरामद हुई है.

क्राइम ब्रांच के एडिशनल कमिश्नर बीके सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि एक तस्कर गिरोह अफीम की तस्करी में शामिल है. गैंग का एक शख्स ट्रक में मध्य प्रदेश से अफीम लेकर वजीराबाद इलाके में आने वाला है. इसका पता चलते ही इंस्पेक्टर राम मनोहर की टीम ने हरियाणा नंबर के एक ट्रक को रोककर उसकी जांच की. उस ट्रक में 108 नई वाशिंग मशीन भरी हुई थीं. तलाशी लेने पर वाशिंग मशीन के अंदर से प्लास्टिक की 35 बोरी में रखी 700 किलो अफीम बरामद हुई. वहीं, अफीम बरामदगी के बाद ट्रक चालक जसबीर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया.

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह पेशे से चालक है और 15 वर्ष से ट्रक चला रहा है. ट्रक चलाने के दौरान ही वह अफीम का सेवन करने लगा था. इसी बीच साथी जरनैल सिंह ने अफीम की तस्करी में भारी कमाई का लालच देकर उसे तस्करी के लिए तैयार कर लिया. वह उसके जानकार रवि से मध्य प्रदेश से अफीम लेकर उसकी सप्लाई दिल्ली सहित हरियाणा और पंजाब में करता था.

आरोपी चेन्नई से वाशिंग मशीन की खेप लेकर चला था. मशीन को पंजाब के लुधियाना में पहुंचाना था. इसी बीच पुलिस से बचने के लिए उसने मशीन में अफीम की बोरियां छुपा दी थी. जसबीर पहले भी कई बार अफीम की तस्करी कर चुका है. अन्य आरोपियों का पता चलने पर पुलिस की टीम ने हरियाणा के करनाल से जरनैल सिंह और नीमच से रविंद्र सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी मध्य प्रदेश से अफीम खरीदकर उसे ढाई गुना दाम पर बेचते थे.