चुनाव से पहले दुष्यंत चौटाला को मिली थी धमकी, हाईकोर्ट में हरियाणा सरकार ने दिया जवाब

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को विधानसभा चुनावों से पहले धमकी मिलने के मामले में पंजाब एंव हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई.

चुनाव से पहले दुष्यंत चौटाला को मिली थी धमकी, हाईकोर्ट में हरियाणा सरकार ने दिया जवाब

चंडीगढ़: हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को विधानसभा चुनावों से पहले धमकी मिलने के मामले में पंजाब एंव हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट में हरियाणा सरकार ने जवाब दाखिल करते हुए, धमकी की कॉल को सही बताया. सरकार ने कहा कि एफआईआर दर्ज हो चुकी है. हरियाणा सरकार के वकील ने कोर्ट में बताया कि दुष्यंत चौटाला अब उपमुख्यमंत्री हैं, लिहाजा सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत दी हुई है.  केंद्र सरकार ने मामले में जवाब देने के लिए समय मांगा.  वही दुष्यंत के वकील कार्तिकेय ने कहा, सरकार के रिप्लाई पर जवाब देने के लिए समय चाहिए.  6 फरवरी को होगी अगली सुनवाई. 

बता दे दुष्यंत चौटाला ने चुनावों से पहले हाईकोर्ट से सुरक्षा मांगी थी. क्योंकि दुष्यंत चौटाला की याचिका के मुताबिक उन्हें धमकी भरा कॉल आया था. कॉल करने वाले ने अपना नाम पवन कुमार बताया था.  याचिका मे बताया गया था कि पवन कुमार ने खुद को पाबलो एक्सकोबर गैंग का सदस्य बताते हुए धमकी देते हुए कहा था कि चुनावों में अगर इसी तरह प्रचार करते रहे तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.

दुष्यंत चौटाला के मुताबिक डीजीपी हरियाणा, इलाके से सम्बधित एसएसपी, इंस्पेक्टर और अन्य अधिकारियों को अलग अलग ज़रिए से शिकायत दी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई इसलिए सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट का  रुख किया था. याचिका में बताया गया था कि चुनावों के कारण नियमों के मुताबिक सारे हथियार सरेंडर किए गए है ऐसे में इस तरह के धमकी भरे कॉल को देखते हुए उन्हें सुरक्षा कवर दिया जाए.

उन्होंने बताया था कि जिस गैंग का नाम पवन कुमार ने लिया है वो कोलंबिया में सक्रिय है और ड्रग ट्रेड के लिए जाना जाता है  दुष्यंत ने याचिका के ज़रिए कहा था उनके पास कुछ सुरक्षाकर्मी ज़रूर है लेकिन पूरी तरह से सिक्योरिटी कवर दिया जाए क्योंकि पार्टी के स्टार कैंपेनर होने के चलते वो चुनावों के दिनों में पार्टी के लिए अलग अलग जगहों पर जाकर प्रचार कर रहे है. दुष्यंत ने अपनी याचिका में यह भी कहा था कि उनकी पार्टी जननायक जनता पार्टी मौजूदा विपक्षी पार्टियों में से एक है.

हरियाणा सरकार ने आज रिप्लाई फ़ाइल किया ,कहा धमकी की बात सही,एफआईआर दर्ज हो चुकी है और आगे जांच चल रही है हालांकि अब वो डिप्टी सीएम है इसलिए सुरक्षा कर्मी उनके पास है बहरहाल जांच के रिपोर्ट पर निर्भर करेगा कि और सुरक्षा देनी है या नहीं ,हालांकि धमकी की बात प्रमाणित है.