Breaking News
  • देश भर में बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, कई राज्‍य सरकारों ने केंद्र से की सिफारिश: सूत्र
  • महबूबा मुफ्ती को सरकारी निवास से घर शिफ़्ट किया गया लेकिन वो PSA के तहत रहेंगी नजरबंद
  • तबलीगी जमात की कारगुज़ारियों के खिलाफ मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, जमात की एक्टिविटी पर रोक लगाने की मांग
  • BSF ने अपने जवानों से कहा- 21 अप्रैल तक जहां हैं, वहीं रहें

VIDEO: 'आप' ने लगाया EVM से छेड़छाड़ का आरोप, तो चुनाव आयोग ने खोल दी पूरी सच्चाई

AAP नेता संजय सिंह ने एक वीडियो जारी कर EVM के छेड़छाड़ की आशंका जताई है.

VIDEO: 'आप' ने लगाया EVM से छेड़छाड़ का आरोप, तो चुनाव आयोग ने खोल दी पूरी सच्चाई

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election)  के लिए 8 फरवरी को हुई वोटिंग के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) से छेड़छाड़ की आशंका जताई है. पार्टी नेता संजय सिंह ने एक वीडियो जारी कर चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिए हैं. हालांकि, इन आरोपों को चुनाव आयोग ने सिरे से नकार दिया है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने इस मुद्दे को लेकर विस्तृत जवाब दिया.

सीईओ रणबीर सिंह ने बताया, ''चुनाव में ड्यूटी कर रहे सेक्टर ऑफिसर को दो अलग-अलग स्थान पर स्कूलों में मतदान कराना था. इसके लिए उसे ईवीएम के 2 सेट दिए गए थे. इस सेट में एक-एक CU, BU, और VVPAT होती है. दोनों स्थानों पर ऑफिसर ने एक-एक रिजर्व मशीन रख दी. जब पोलिंग खत्म हुई तब उसने गाड़ी से नजदीक वाली जगह का ईवीएम सेट उठाकर पहले रख दिया. उसके वह दूसरे में बूथ पर गया और वहां से पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में एक और बची रिजर्व मशीन सेट उठाकर पैदल चलकर लाने लगा, क्योंकि उस बूथ तक जाने का रास्ता सड़क से 500 मीटर अंदर संकरी गली से होकर जाता था. इसी दौरान रिजर्व ईवीएम सेट ले जा रहे अधिकारी को देखकर राहगीरों को भ्रम हुआ और कुछ लोगों ने वीडियो रिकॉर्ड कर लिया. हालांकि, इसके बाद रात 2 बजे नेताओं की मौजूदगी में उस ईवीएम को सील कर दिया गया था.''

संजय सिंह का आरोप
दरअसल, आप नेता संजय सिंह ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुनाव आयोग पर आरोप लगाए थे. सिंह ने कहा, "70 विधानसभा का मत बताने में कितना समय लगता है. कुछ पक रहा है. चुनाव आयोग को इस पर जवाब देना चाहिए. जो वीडियो मैंने ट्वीट किया उसमें दिख रहा है कि ईवीएम सड़क पर उतारी जा रही हैं. रिजर्व ईवीएम को सड़क पर लेकर कैसे घूम सकते है. एक-एक विधानसभा की मॉनिटरिंग मैं खुद कर रहा था. मनोज तिवारी कह रहे हैं कि ईवीएम का रोना मत रोइये, क्यों कह रहे हो भाई. कुछ गड़बड़ किया है तो बता दीजिये."

दिल्ली में 62.59 फीसदी मतदान, चुनाव आयोग ने बताया क्यों देर से जारी किए फाइनल आंकड़े
चुनाव आयोग के अधिकारी आगे कहा कि आज (9 फरवरी) दोपहर 2 बजे संबंधित क्षेत्र के सभी उम्मीदवारों की मौजूदगी में उस ईवीएम को चेक कराया तो उसमें कोई वोट नहीं निकला, क्योंकि वह रिजर्व मशीन थी, उसमें कोई मतदान नहीं हुआ था.  

62.59% मतदान
निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने बताया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को कुल 62.59 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा मतदान बल्लीमरान विधानसभा क्षेत्र में 71.6 प्रतिशत हुआ, जबकि सबसे कम दिल्ली कैंट विधानसभा क्षेत्र में 45.4 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. मतदान प्रतिशत घोषित करने में हुई देरी के बारे में उन्होंने कहा कि सारे आंकड़े जुटाने में समय लगता है.

लोकसभा चुनाव से 2% अधिक वोटिंग
सिंह ने कहा कि इस बार के विधानसभा चुनाव का मतदान प्रतिशत लोकसभा चुनाव से लगभग दो प्रतिशत अधिक है, जबकि पिछले विधानसभा चुनाव 2015 से लगभग पांच प्रतिशत कम है, जब 67.12 प्रतिशत मतदान हुआ था. इसके पहले आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने 22 घंटे बाद भी मतदान के अंतिम आंकड़े जारी न करने पर निर्वाचन आयोग पर रविवार को सवाल उठाया था.