जामिया हिंसा से जुड़ा एक और वीडियो हुआ जारी, 15 दिसंबर की रात का राज और गहराया

रविवार को भी जामिया हिंस से जुड़े चार वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे. इन सभी वीडियो ने 15 दिसंबर को हिंसा की गुत्थी को और उलझा दिया. 

जामिया हिंसा से जुड़ा एक और वीडियो हुआ जारी, 15 दिसंबर की रात का राज और गहराया
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जामिया विश्वविद्यालय (Jamia University) में 15 दिसंबर की रात हुई हिंसा से जुड़ा एक और कथित वीडियो वायरल हो गया है. इस वीडियो में भी पुलिस (police) छात्रों (students) पर लाठी बरसाती नजर आ रही है. वीडियो के अंत में एक पुलिसकर्मी कथित तौर पर सीसीटीवी तोड़ने की कोशिश भी करता है. 

बता दें रविवार को भी जामिया हिंसा से जुड़े चार वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे. इन सभी वीडियो ने 15 दिसंबर को हिंसा की गुत्थी को और उलझा दिया. दिन भर सोशल मीडिया पर यह वीडियो छाए रहे. 

ऐसे ही एक वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा था, "देखिए कैसे दिल्ली पुलिस छात्रों को अंधाधुंध पीट रही है. एक लड़का किताब दिखा रहा है, लेकिन पुलिस वाला लाठियां चलाए जा रहा है." प्रियंका ने कहा, "गृहमंत्री और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने झूठ बोला कि उन्होंने लाइब्रेरी में घुस कर किसी को नहीं पीटा. इस वीडियो को देखने के बाद जामिया में हुई हिंसा को लेकर अगर किसी पर एक्शन नहीं लिया जाता तो सरकर की नीयत पूरी तरह से देश के सामने आ जाएगी."

क्या है मामला?
बता दें नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने के कुछ ही दिन बाद, पिछले साल 15 दिसंबर को, छात्रों और स्थानीय लोगों द्वारा एक सीएए विरोधी रैली निकालने के दौरान काफी हिंसा हुई थी. दिल्ली पुलिस ने कहा था कि भीड़ ने बसों को जला दिया था, जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज का सहारा लिया था. मामला दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के पास रहा है.

विश्वविद्यालय ने बेरहमी से पिटाई के लिए जिम्मेदार पुलिस कर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस से संपर्क किया था. जामिया मिलिया इस्लामिया प्रशासन ने भी महानगर दंडाधिकारी की अदालत में मामला दायर किया था, जिसने 16 मार्च तक दिल्ली पुलिस को उठाए गए कदम के संबंध में रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था.