शिवराज सिंह चौहान बोले- यह मत सोचिए कि ‘मामा’ कमजोर हो गया है

शिवराज सिंह चौहान ने विपक्षी नेताओं की सभा का भी मजाक उड़ाते हुए उसे ‘‘भानुमति का कुनबा’’ बताया.

शिवराज सिंह चौहान बोले- यह मत सोचिए कि ‘मामा’ कमजोर हो गया है
शिवराज सिंह ने कहा कि एमपी में कांग्रेस सरकार ‘‘किसी भी समय’’ गिर सकती है क्योंकि उनका पास बहुमत नहीं है.

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में सत्ता गंवाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि यह ना सोचें कि ‘मामा’ कमजोर हो गया है और उन्होंने दावा किया कि बीजेपी राज्य में 29 लोकसभा सीटों में से कम से कम 27 पर जीतेगी. चौहान को ‘मामा’ भी कहा जाता है. उन्होंने दिल्ली बीजेपी युवा मोर्चा की ‘युवा विजय संकल्प महारैली’ में कहा कि कांग्रेस ने राज्य में बेशक सरकार बना ली हो लेकिन उनकी सरकार ‘‘किसी भी समय’’ गिर सकती है क्योंकि उनका पास बहुमत नहीं है.

वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा, ‘‘यह मत सोचिए कि मामा कमजोर हो गया है. मैं वादा करता हूं कि हम आगामी चुनावों में 29 लोकसभा सीटों में से कम से कम 27 सीटें जीतेंगे जैसा कि हम 2014 में जीते थे.’’

BJP भी बना सकती थी 'पंगु' सरकार
मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए चौहान ने दावा किया कि बीजेपी भी ‘‘पंगु’’ सरकार बना सकती थी लेकिन उसने फैसला किया कि वह भारी बहुमत के साथ सरकार बनाएगी.

महागठबंधन पर निशाना
चौहान ने कोलकाता में शनिवार को विपक्षी नेताओं की सभा का भी मजाक उड़ाया. उन्होंने इसे ‘‘भानुमति का कुनबा’’ बताते हुए कहा कि ‘महागठबंधन’ की योजना बना रही पार्टियों के बीच एक नेता को लेकर कोई सर्वसम्मति नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘यह बिना दूल्हे के शादी की तरह है. दूसरी तरफ हमारे पास रणभूमि में हमारा नेतृत्व करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में एक नेता है.’’

रैली में जुटे कम लोग
‘युवा विजय संकल्प महारैली’ दिल्ली बीजेपी द्वारा लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पिछले दो महीने में आयोजित बड़ी रैलियों के क्रम में पांचवीं रैली है. बहरहाल, कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग मौजूद नहीं हुए.

बीजेपी अध्यक्ष की चेतावनी
दिल्ली बीजेपी प्रमुख मनोज तिवारी ने मंच से चेतावनी दी कि इस बात की जांच की जाएगी वे कौन लोग थे जो नेताओं के भाषणों के दौरान उठकर जा रहे थे.

नहीं फूंका केजरीवाल का पुतला
इस बीच, दिल्ली बीजेपी युवा मोर्चा अध्यक्ष सुनील यादव ने दावा किया कि कार्यक्रम में 20,000 से ज्यादा लोग शामिल हुए. उन्होंने कहा, ‘‘लोग आ रहे थे और जा रहे थे लेकिन कुर्सियां भरी हुई थीं.’’ यादव ने बताया कि युवा मोर्चा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल के 40 फुट लंबे पुतले जलाने की योजना बनाई थी. शहर में खराब वायु गुणवत्ता के कारण ऐसा नहीं किया गया.

केंद्रीय मंत्री भी आए
रैली में केंद्रीय मंत्री विजय गोयल समेत बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए. गोयल ने केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में उनकी सरकार ने शहर को ‘‘बर्बाद’’ कर दिया.

पवैया का भी हुआ भाषण
दिल्ली बीजेपी के लोकसभा चुनाव सह-प्रभारी जयभान पवैया ने छात्रों से विपक्ष के ‘‘अच्छे दिन’’ के नारों की खिल्ली उड़ाने की चुनौती का सामना करने के लिए अपने तर्क मजबूत करने और मोदी सरकार की उपलब्धियों के साथ इसका जवाब देने के लिए कहा.