हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष अशोक तंवर नई पार्टी बनाएंगे, अब अगला कदम होगा 'दिल्‍ली की ओर'

नया संगठन दिल्ली के दलित और अल्पसंख्यक आबादी पर भी ध्यान केंद्रित करेगा, जो दक्षिण दिल्ली में रविदास मंदिर के विध्वंस के मुद्दे को उजागर करेगा

हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष अशोक तंवर नई पार्टी बनाएंगे, अब अगला कदम होगा 'दिल्‍ली की ओर'
फाइल फोटो

नई दिल्ली : कांग्रेस (Congress) की हरियाणा (Haryana) इकाई के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले नई पार्टी बनाने का फैसला किया है. पार्टी का नाम अभी तय नहीं हुआ है, लेकिन यह अगले महीने से 'दिल्ली बचाओ, देश बचाओ' जैसे मूल मुद्दे उठाएगी. राज्य के वरिष्ठ नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा के साथ मतभेदों के चलते कांग्रेस छोड़ चुके तंवर ने कहा कि नई पार्टी समाज के सभी वर्गों पर ध्यान केंद्रित करेगी और पेयजल व प्रदूषण के मुद्दे पर दिल्ली सरकार की विफलता को उजागर करेगी.

नया संगठन दिल्ली के दलित और अल्पसंख्यक आबादी पर भी ध्यान केंद्रित करेगा, जो दक्षिण दिल्ली में रविदास मंदिर के विध्वंस के मुद्दे को उजागर करेगा. तंवर ने मंगलवार को दिल्ली में अपने समर्थकों के साथ बैठक कर नए संगठन के शुभारंभ के लिए रणनीति पर चर्चा की.

अगले साल की शुरुआत में दिल्ली में विधानसभा चुनाव होना है, जहां सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में वापसी का दावा कर रही है, तो वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) खुद को मजबूत कर रही है. कांग्रेस पार्टी फिलहाल खोए हुए मैदान को फिर से हासिल करने की कोशिश कर रही है.

साल 2015 में हुए चुनाव में आप ने 67 सीटें जीती थी, जबकि भाजपा केवल तीन सीटें जीतने में कामयाब हो सकी थी. कांग्रेस अपना खाता तक नहीं खोल पाई थी.