दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी; फ्री में मिलेगा सीवर कनेक्शन, बस करना होगा ये काम

सीवर कनेक्शन लेने के लिए डेवल्पमेंट, कनेक्शन और रोड कटिंग चार्ज नहीं देना होगा. इसपर कनेक्शन, रोड कटिंग व डेवल्पमेंट चार्ज करीब 15 हजार रुपये का खर्च आता था. 

दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी; फ्री में मिलेगा सीवर कनेक्शन, बस करना होगा ये काम
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: दिल्ली की विभिन्न कालोनियों में रहने वाले लाखों लोगों को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एक बड़ी राहत दी. उन्होंने कालोनियों में रह रहे लोगों के लिए मुख्यमंत्री मुफ्त सीवर कनेक्शन योजना का एलान किया. जिसके तहत अब लोगों को सीवर कनेक्शन लेने के लिए डेवल्पमेंट, कनेक्शन और रोड कटिंग चार्ज नहीं देना होगा. इसपर कनेक्शन, रोड कटिंग व डेवल्पमेंट चार्ज करीब 15 हजार रुपये का खर्च आता था. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 31 मार्च 2020 तक आवेदन कर विभिन्न कालोनियों में रह रहे लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं.

सोमवार को दिल्ली कैबिनेट ने इसे मंजूरी दे दी. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह योजना विभिन्न कालोनियों में रह रहे लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के साथ यमुना नदी को साफ करने में मील का पत्थर साबित होगा. अभी विभिन्न कालोनियों के सीवरेज का पानी नालों व अन्य माध्यम से यमुना में ही जाता है. साथ ही ग्राउंड वाटर भी दूषित करता है.

नई योजना के बाद इसपर लगाम लगेगा. सीएम ने कहा उन क्षेत्रों के लिए जहां सीवर लाइनें नहीं बिछाई गई हैं, उनके लिए मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक योजना पहले ही घोषित की जा चुकी है. जिसके तहत कालोनी के सभी सेप्टिक टैंक को मुफ्त में साफ किया जाएगा.

ये वीडियो भी देखें:

सीवर कनेक्शन लेने के लिए मुख्यमंत्री भेजेंगे पत्र
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अनुमान के अनुसार मुख्यमंत्री मुफ्त सीवर कनेक्शन योजना का अभी करीब 2.34 लाख परिवार को तत्काल लाभ हो रहा है. यह संख्या बढ़ भी सकती है. सीएम ने कहा कि विभिन्न कालोनियों में रह रहे इन सब परिवारों को मेरी ओर से इस योजना के बारे में पत्र भेजा जाएगा. जिसमें उन्हें इस योजना के तहत सीवर कनेक्शन लेने के लिए प्रेरित किया जाएगा. जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इसका फायदा उठा सकें.

यमुना व नालों को गंदगी व लोगों को बीमारी से मिलेगी राहत
अभी सीवर का पानी या तो यमुना में जाता है या आस-पास के खाली क्षेत्र में एकत्र होता है या नालों में बहता है. इससे गंदगी होती है. साथ ही मच्छर फैलते हैं. इससे बीमारी का खतरा बना रहता है. अब इस योजना के तहत सीवर कनेक्शन लेने के बाद इन समस्याओं से मुक्ति मिल जाएगी.

एनजीटी भी कह चुका है कि आवासीय क्षेत्र में सीवर कनेक्शन न होना यमुना नदी में प्रदूषण की बड़ी वजह है. यमुना की सफाई के लिए बड़ी राशि खर्च की जा रही है. अब मुख्यमंत्री मुफ्त सीवर कनेक्शन योजना से लोगों को सीवर की सुविधा मिलेगी. साथ ही यमुना प्रदूषित होने से बच जाएगी.

पांच साल में 787 कालोनियों में डाला गया सीवर लाईन - सीएम
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा दिल्ली के 787 कॉलोनियों में सीवर लाईन डाला गया है. जल बोर्ड के करीब 5.5 लाख उपभोक्ता है.  दिल्ली जल बोर्ड लोगों के सीवर कनेक्शन को निकटतम मैनहोल से जोड़ने का काम प्राथमिकता पर कर रहा है. तमाम जगहों पर सीवर लाईन को डालने का काम हो रहा है. दिल्ली जल बोर्ड ने पूरी दिल्ली के लिए सीवरेज मास्टर प्लान -2031 बनाया है. जिसके अनुसार चरणबद्ध तरीके से 2031 तक सीवेज सिस्टम प्रदान किया जाएगा. पूरे सीवरेज बुनियादी ढांचे को बिछाने के लिए 8500 करोड़ की अनुमानित लागत आएगी. उपरोक्त सभी कॉलोनियों में सीवर सिस्टम बिछाने पर करोड़ों रुपये खर्च किए जा चुके हैं.

दिल्ली सरकार ने पहले भी कम किया था डेवल्पमेंट चार्ज
दिल्ली में पहले सीवर लाईन लेने पर 494 रुपये प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से डेवल्पपमेंट चार्ज लगता था. दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार बनने के बाद डेवल्पमेंट चार्ज को घटाकर सौ रुपये कर दिया गया. हालांकि, इसके बाद भी सीवर लाईन कनेक्शन लेने के लिए दिल्ली की कालोनियों के सभी लोग सामने नहीं आए. अब इस योजना से कालोनियों में रह रहे ज्यादातर परिवार के घर सीवर कनेक्शन पहुंच जाएगा.

इतनी होगी  बचत 

25 वर्ग मीटर के मकान पर - 2500 रुपये
50 वर्ग मीटर के मकान पर - 5000 रुपये
75 वर्ग मीटर के मकान पर - 7500 रुपये
100 वर्ग मीटर का मकान पर - 10 हजार रुपये
150 वर्ग मीटर के मकान पर - 15000 रुपये
200 वर्ग मीटर के मकान पर - 20 हजार रुपये