close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा चुनाव : बीजेपी की पहली सूची में 2 कैबिनेट मंत्रियों के नाम नहीं

हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई वाली बीजेपी की सरकार के दो कैबिनेट मंत्रियों विपुल गोयल और राव नरबीर सिंह के नाम सोमवार को जारी की गई 78 उम्मीदवारों की पहली सूची में नहीं हैं. 

हरियाणा चुनाव : बीजेपी की पहली सूची में 2 कैबिनेट मंत्रियों के नाम नहीं
सूची में नाम नहीं रहने का कारण आंतरिक कलह माना जा रहा है.

चंडीगढ़: हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई वाली बीजेपी की सरकार के दो कैबिनेट मंत्रियों विपुल गोयल और राव नरबीर सिंह के नाम सोमवार को जारी की गई 78 उम्मीदवारों की पहली सूची में नहीं हैं. सूची में नाम नहीं रहने का कारण आंतरिक कलह माना जा रहा है. हरियाणा विधानसभा की 90 सीटों के चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होगा, जिसके नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे.

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री गोयल ने जहां केंद्रीय मंत्री व फरीदाबाद से सांसद कृष्णपाल गुर्जर से पंगा ले लिया था, वहीं लोक निर्माण मंत्री नरबीर सिंह की केंद्रीय मंत्री व गुरुग्राम के सांसद राव इंद्रजीत सिंह के साथ प्रतिद्वंद्विता है. बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने आईएएनएस को बताया कि गोयल और गुर्जर के बीच प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर है. इसी तरह से दो प्रमुख अहीर नेताओं राव इंद्रजीत सिंह और राव नरबीर सिंह के बीच भी तनाव कायम है.

इंद्रजीत सिंह अपनी बेटी आरती राव के लिए रेवाड़ी या कोसली से इस आधार पर टिकट की मांग कर रहे थे कि पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह ने राज्यसभा सदस्य रहते हुए अपने बेटे बृजेंद्र को हिसार से लोकसभा का टिकट दिलवाया था, जबकि उनकी पत्नी भी विधायक हैं. पहली सूची में बीरेंद्र सिंह की पत्नी प्रेमलता को उचाना कलां से चुनाव लड़ने का मौका मिला है.

गुर्जर भी कथित तौर पर अपने बेटे व फरीदाबाद के वरिष्ठ डिप्टी मेयर देविंदर चौधरी को आगामी चुनाव में उतारने की मांग कर रहे थे. एक वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा कि बाकी 12 उम्मीदवारों की दूसरी और अंतिम सूची एक-दो दिन में घोषित होने की संभावना है. बीजेपी नेता ने कहा कि शेष सीटों के लिए नरबीर सिंह को कोसली से मैदान में उतारा जा सकता है, लेकिन इस बार गोयल को टिकट मिलना मुश्किल है.

LIVE टीवी: 

राव नरबीर सिंह (58) बादशाहपुर से विधायक हैं, जबकि गोयल (47) फरीदाबाद से विधायक हैं. बीजेपी की पहली सूची में नौ महिलाएं और दो मुस्लिम उम्मीदवार शामिल हैं, जबकि सात विधायकों को टिकट नहीं मिला है. चुनाव के लिए नामांकन भरने का अंतिम दिन चार अक्टूबर है.