close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोद लिए गए पांचों गांवों के विकास कार्यों में और तेजी लाई जाएगी: राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा

आपको बता दें कि राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने हिसार जिले में पांच गांव को सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया हुआ है. इन गांवों में सदलपुर, आदमपुर, खारा बरवाला, किशनगढ़, मंडी आदमपुर शामिल है. 

गोद लिए गए पांचों गांवों के विकास कार्यों में और तेजी लाई जाएगी: राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा
राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा हिसार के सेक्टर-14 स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू हुए. (फाइल फोटो)

हिसार : राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा द्वारा गोद लिए गए पांच गांवों के विकास कार्यों में और अधिक तेजी लाई जाएगी. शनिवार को हिसार पहुंचे सुभाष चंद्रा ने एक प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी. साथ ही पांचों गांवों में हुए विकास कार्यों और अन्‍‍य कई सवालों के जवाब भी दिए. दरअसल, सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा द्वारा सदलपुर, आदमपुर, खारा बरवाला, किशनगढ़, मंडी आदमपुर गांवों को गोद लिया गया है. सुभाष चंद्रा ने बताया कि उनके द्वारा गोद लिए गए इन पांच गांवों में अब तक 350 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं को पूरा किया जा चुका है. 

राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा हिसार के सेक्टर-14 स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू हुए. यहां उन्‍होंने कहा कि पांचों गांवों में पीने के पानी की समस्या का समाधान करवा दिया है. इसके साथ ही बिजली, पानी, सीवरेज, रोड, रेलवे ओवर बिज्र जैसे कार्य करवाएं गए हैं. उन्‍होंने बताया कि गोद लिए गए पांचों गांवों के चहुंमुखी विकास के लिए वो सारथी के रूप में लगे हुए हैं. सुभाष चंद्रा फाउंडेशन की तरफ से प्रयास किए गए कि गांवों का सर्वांगीण विकास हो. फिर बात महिलाओं के सशक्तिकरण की हो, किसानों की आमदनी बढ़ाने की, स्वच्छता अभियान की या निरोग रहने के लिए उठाए गए कदमों की हो. उन्होंने बताया कि पांचों गांवों में युवा क्‍लब बनाया गया. इसके साथ 300 युवा जुड़े हैं. ऐसे ही किसानों के उत्थान के लिए एफपीओ बनाया गया, ताकि किसानों की आमदनी बढ़ाई जा सके. 

आपको बता दें कि राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने हिसार जिले में पांच गांव को सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया हुआ है. इन गांवों में सदलपुर, आदमपुर, खारा बरवाला, किशनगढ़, मंडी आदमपुर शामिल है. सुभाष चंद्रा ने इन गांवों के लिए स्मार्ट विलेज की परिकल्पना की है और वह उसी दिशा में लगे हुए हैं.

subhash chandra

राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने अपने अगले लक्ष्‍य के बारे में बताया कि एफपीओ बना दिया गया है. इस साल इसके साथ हजार किसान जोड़ने का प्रोग्राम है, ताकि किसानों की आमदनी बढ़े और मिलकर वो नई तकनीक के साथ खेती करें. इसके साथ ही एक हजार के करीब युवाओं को और 500 महिलाओं को जोड़कर उत्थान की दिशा में मिलकर काम करेंगे.

LIVE TV...

सुभाष चंद्रा ने बताया कि बीते दिनों जापान से भी कुछ लोग यहां आए थे. 3 दिन तक उन्होंने इस एरिया के बारे में चर्चा की. वहां की टेक्नालॉजी का जिक्र करते हुए डॉ चंद्रा ने बताया कि वहां 3 महीने में ही एक फसल ली जा सकती है एलडी बल्ब इत्यादि लगाकर. यानि वो अपनी तकनीक से फसल उगाने का समय आधा कर देते हैं. हम भी उस तकनीक को इस एरिया में लाना चाहते हैं, ताकि किसानों को फायदा हो. इन गांवों का इंटीग्रेटिड डेवलपमेंट होना चाहिए, वो मॉडल हमने तैयार किया है. हम इन गांवों को ऐसा बनाना चाहते है कि हरियाणा के ही नहीं, बाहर के लोग भी यहां आकर इन्‍हें देखेंगे.

उन्‍होंने सोशल मीडिया पर बीते दिनों उनको लेकर फैलाए जा रहे दुष्प्रचार को लेकर भी जवाब दिया. जब इस बारे में उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि यह दुष्‍प्रचार हरियाणा के पानीपत से शुरू हुआ था. इस बाबत एफआईआर भी दर्ज हुई है. उन्‍होंने कहा कि मैं अकेला ऐसा बिजनेसमैन हूं, जिसने ओपन चिटठी लिखी. ऐसी चिटठी लिखने की कोई हिम्मत नहीं करता तो ऐसा आदमी भागेगा कैसे.

इस बीच उन्होंने हरियाणा की राजनीति से संबंधित सवालों और बीजेपी-जेजेपी के बीच हुए गठबंधन जैसे सवालों पर भी जवाब दिए. राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने सरकार द्वारा प्रोपर्टी को आधार से लिंक कराने जैसे उठाए जा रहे कदमों के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी चाहते हैं जहां-जहां भी कानून के खिलाफ काम होता है, वो रूके. उसके रूकने में दिक्कत तो सभी को आती है, लेकिन भविष्य में यह लाभदायक चीज है.