हरियाणा चुनावः कांग्रेस का गढ़ रही है झज्जर विधानसभा सीट

2014 में राज्य में कांग्रेस भले ही सरकार ना बना पाई हो लेकिन गीता भुक्कल अपनी सीट बचाने में कामयाब रही थी.

हरियाणा चुनावः कांग्रेस का गढ़ रही है झज्जर विधानसभा सीट

चंडीगढ़ः हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में राज्य का झज्जर विधानसभा क्षेत्र वह हल्का जो मूल रूप से रोहतक लोकसभा के अंदर आता है और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का गढ़ माना जाता है. इस रिजर्व सीट झज्जर विधानसभा से पिछले दो बार से कांग्रेस के टिकट पर गीता भुक्कल चुनाव लड़ती आई हैं और 2009 से 2014 तक गीता भुक्कल प्रदेश की शिक्षा मंत्री भी रहीं. 2014 में बार कांग्रेस भले ही सरकार ना बना पाई हो लेकिन गीता भुक्कल अपनी सीट बचाने में कामयाब रही थी.

गीता भुक्कल का कहना है कि उन्होंने अपने वक्त में ना केरल सरकार से बल्कि कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के जरिए भी अपने हलके में पैसा लाकर बहुत सारे विकास के काम कराएं सड़क के उस वक्त की बनी गई जो आज तक चल रही हैं. चाहे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हो या फिर आईटीआई हर वर्ग का ध्यान रखा और हर क्षेत्र का ध्यान रखा गया. गीता का कहना है कि उन्होंने जिस परियोजना की शुरुआत अपने कार्यकाल में की थी उस पर केवल और केवल रिबन काटने का काम बीजेपी कर रही है.

वहीं बीजेपी की टिकट के प्रमुख दावेदार और पूर्व सीएमओ राकेश का कहना है कि केवल झज्जर का नाम खराब हुआ काम थोड़ा सरकार में यहां पर कुछ भी नहीं हुआ. मौजूदा बीजेपी सरकार ने यहां पर विकास के काम कराए हैं और अगर गीता भुक्कल कहती हैं कि वह रिबन काट रहे हैं तो इसका मतलब यही है कि उनके चलाई गई परियोजनाओं को हमने पूरा किया है इसीलिए रिबन काटे जा रहे हैं.

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अजय गुलिया का कहना है कि झज्जर मैं गीता भुक्कल और बीजेपी सरकार दोनों ही एक भी पत्थर नहीं लगा पाई केवल और केवल यहां के लोगों के नाम के ऊपर राजनीति जरूर की गई है काम कभी भी नहीं हुआ.