हरियाणा : 'जांबाज' बहनों ने छेड़खानी करने वाले मनचलों की जमकर की धुनाई, देखें वीडियो

कॉलेज जा रही दो सगी बहनों ने गजब की हिम्मत दिखाते हुए बस में उनसे छेड़खानी करने वाले तीन युवकों की हरकतों का न केवल मजबूती से विरोध किया बल्कि युवकों के अपनी हरकतों से बाज नहीं आने पर दोनों बहनों ने उनकी जमकर धुनाई भी की।

हरियाणा : 'जांबाज' बहनों ने छेड़खानी करने वाले मनचलों की जमकर की धुनाई, देखें वीडियो
Play

रोहतक (हरियाणा) : कॉलेज जा रही दो सगी बहनों ने गजब की हिम्मत दिखाते हुए बस में उनसे छेड़खानी करने वाले तीन युवकों की हरकतों का न केवल मजबूती से विरोध किया बल्कि युवकों के अपनी हरकतों से बाज नहीं आने पर दोनों बहनों ने उनकी जमकर धुनाई भी की।

हालांकि, इस घटना का अफसोसजनक पहलू यह रहा कि भरी बस में से एक यात्री भी उठकर इन दोनों बहादुर लड़कियों की मदद को आगे नहीं आया और वे चुपचाप तमाशा देखते रहे। इतना ही नहीं उन्होंने लड़कों को सबक सिखा रही दोनों बहनों से भी चुप रहने को कहा। देर रात पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपियों कुलदीप, मोहित और दीपक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

रोहतक के पुलिस अधीक्षक शशांक आनंद ने बताया कि हमने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354 (हमला या महिला की गरिमा को नुकसान पहुंचाने की मंशा से आपराधिक बल प्रयोग) और धारा 323 (जानबूझकर नुकसान पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस घटना पर देशभर से महिला अधिकार कार्यकर्ताओं की ओर से त्वरित प्रतिक्रिया हुई है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम ने प्रशासन से आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।

दोनों बहनों ने आरोपियों का डटकर मुकाबला किया और एक ने तो लड़कों की बेल्ट से पिटाई की। एक यात्री ने पूरे घटनाक्रम की अपने मोबाइल फोन से रिकॉर्डिंग कर ली और वह वीडियो टेलीविजन एवं सोशल मीडिया पर फैल गया। वीडियो में लड़कियां लात-घूसों और बेल्ट से छेड़खानी करने वालों की धुनाई करती हुई नजर आ रही हैं और आरोपी हक्के-बक्के दिख रहे हैं। दोनों बहनों के माता-पिता ने हरियाणा पुलिस के समक्ष दर्ज कराई गई प्राथमिकी में बताया है कि छेड़छाड़ करने वाले युवक रोहतक में कंसाला गांव में उतर गए थे।

लड़कियों ने पुलिस में शिकायत की है कि शुक्रवार को जब वे हरियाणा रोडवेज की बस से कॉलेज जा रही थीं तब कुछ युवकों ने उनसे छेड़खानी की। आपत्ति करने पर एक आरोपी उन्हें पीटने लगा। लड़कियों ने हिम्मत नहीं हारी और लड़कों का मुकाबला किया। हालांकि, सहयात्रियों ने उन्हें कोई सहयोग नहीं किया। पुलिस ने बताया कि एक लड़की ने तो आरोपी की बेल्ट से पिटाई की। इनमें से एक लड़की ने बताया कि उन्होंने हमें धमकी दी और हमारे साथ बदतमीजी की। इनमें से एक ने मेरी बहन को गलत तरीके से छुआ। उन्होंने अश्लील इशारे करने शुरू कर दिए। काफी कहासुनी के बाद इन लड़कों में से एक ने अपने दोस्तों से कहा कि वे हमें मारें। एक ने मेरी बहन को मारा जबकि बाकी दो ने मेरे हाथ पकड़ लिए।

इस लड़की ने बताया कि इसके बाद मैंने अपनी बेल्ट निकाली और उन पर बरसाई। जब बस धीमी हुई तो उन्होंने हमें बस में से धक्का दे दिया। इस लड़की ने यह भी बताया कि उसने आपात सेवा हेल्पलाइन नंबर को भी कॉल किया लेकिन दूसरी तरफ से जवाब मिला कि वे दो मिनट बाद पलट कर कॉल करेंगे लेकिन कुछ नहीं हुआ। लड़की ने कहा कि उनकी मदद करने की बजाय कुछ यात्रियों ने उन्हें लड़कों से लड़ने के खिलाफ सलाह दी और चेतावनी दी कि हो सकता है कि कल ही ये लड़कियों को मार दें। एक लड़की ने बताया कि कोई यात्री हमारी मदद को नहीं आया। कुछ तमाशा देखते रहे तो कुछ को अपनी सुरक्षा की चिंता थी। इस बीच दोनों बहनों के पिता ने आरोप लगाया है कि पंचायत से उन पर इस बात का दबाव पड़ रहा है कि लड़कियां शिकायत वापस ले लें।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.