जामिया हिंसा: कोर्ट रूम में चीफ जस्टिस के सामने वकीलों ने लगाए Shame! Shame! के नारे, तो...

गुरुवार को छात्रों की गिरफ्तारी पर अंतरिम राहत न मिलने पर कोर्ट रूम में ही कुछ वकीलों ने चीफ जस्टिस डी एन पटेल की मौजूदगी में shame !shame! के  नारे लगाए थे.

जामिया हिंसा: कोर्ट रूम में चीफ जस्टिस के सामने वकीलों ने लगाए Shame! Shame! के नारे, तो...
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi high court) उन वकीलों के खिलाफ कार्रवाई करेगा जिन्होंने गुरुवार को हाई कोर्ट में जामिया हिंसा (Jamia violence) मामले की सुनवाई के दौरान सुनवाई कर रही जजों की बेंच के प्रति अपमानजनक शब्द कहे थे.  दिल्ली हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस ने कहा कि वह मामले में जांच के लिए एक कमिटी बनाएंगे और फिर उचित कार्रवाई करेंगे.

अदालत ने कहा है कि वो एक कमेटी का गठन करेगा जो उन वकीलों के खिलाफ कार्रवाई पर विचार करेगी जिन्होंने कल जामिया हिंसा मामले में सुनवाई के दौरान बेंच के प्रति अपमानजनक शब्द कहे थे.

बता दें गुरुवार को छात्रों की गिरफ्तारी पर अंतरिम राहत न मिलने पर कोर्ट रूम में ही कुछ वकीलों ने चीफ जस्टिस डी एन पटेल की मौजूदगी में shame !shame! के  नारे लगाए थे.
शुक्रवार को कुछ वकीलो ने इस घटना का ज़िक्र करते हुए हाईकोर्ट में जजों की बेंच से आग्रह किया किया था कि वे नारे लगाने वाले वकीलो के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करे.