Breaking News
  • कोलकाता से आज से घरेलू उड़ानें शुरू, एयरपोर्ट पर 10 उड़ानें आएंगी और इतनी ही जाएंगी

दिल्ली में मर गई इंसानियत! जिंदगी और मौत से जूझ रहे व्यक्ति का मोबाइल ले भागा राहगीर

समाज में असंवेदनशीलता कितनी बढ़ रही है इसका नजारा दिल्ली में बुधवार को देखने को मिला। यह घटना दिल्ली के सुभाष नगर इलाके की है। इस इलाके में बुधवार को सुबह 5 बजकर 40 मिनट पर सीसीटीवी कैमरे में एक एक्सीडेंट का फुटेज रिकार्ड हुआ जो असंवेदनशील समाज की परतें खोलता है और सोचने पर विवश करता है।

दिल्ली में मर गई इंसानियत! जिंदगी और मौत से जूझ रहे व्यक्ति का मोबाइल ले भागा राहगीर
तस्वीर के लिए साभार - स्क्रीन ग्रैब

नई दिल्ली: समाज में असंवेदनशीलता कितनी बढ़ रही है इसका नजारा दिल्ली में बुधवार को देखने को मिला। यह घटना दिल्ली के सुभाष नगर इलाके की है। इस इलाके में बुधवार को सुबह 5 बजकर 40 मिनट पर सीसीटीवी कैमरे में एक एक्सीडेंट का फुटेज रिकार्ड हुआ जो असंवेदनशील समाज की परतें खोलता है और सोचने पर विवश करता है।

मतिबुल नाम का शख्स अपनी नाईट ड्यूटी खत्म करके सुभाष नगर से पैदल डीडीयू अस्पताल की ओर अपने घर जा रहा था। तभी पीछे से एक तेज रफ्तार टैम्पो ने उसे जोरदार टक्कर मारी। इससे वह सड़क पर बुरी तरह जख्मी होकर गिर गया। टैम्पो ड्राइवर ने उतरकर कुछ देर उसे देखा और फिर टैम्पो लेकर भाग गया। लोग वहां से गुजरते रहे लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। सीसीटीवी फुटेज से ऐसा दिख रहा है कि वह हिल-डुल रहा है। यानी अगर समय पर उसे अस्पताल पहुंचाया गया होता तो शायद उसकी जिंदगी बच सकती थी।

हद तो तब हो गई जब एक आदमी रिक्शे से उतरकर उसका मोबाइल उठाकर ले गया। घटना के घंटे भर बाद जब पुलिस को खबर मिली तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। मृतक पश्चिम बंगाल का रहने वाला था। दिल्ली में वह अकेला रहता था और दिन में ई-रिक्शा चलने के साथ-साथ रात में चौकीदारी का काम भी करता था।