close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आदमपुर मंडी का सामान्य अस्पताल हरियाणा में अव्वल, कायाकल्प अवार्ड जीता, मिले 15 लाख

राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा द्वारा किए गए विशेषों प्रयासों के चलते मंडी आदमपुर के सरकारी अस्पताल को हरियाणा में बेस्ट अस्पताल के रूप में चुना गया है. 

आदमपुर मंडी का सामान्य अस्पताल हरियाणा में अव्वल, कायाकल्प अवार्ड जीता, मिले 15 लाख
अस्पताल में तैनात स्टॉफ के साथ-साथ आदमपुर एरिया के ग्रामीण भी इस उपलब्धि पर खासे खुश है.

हिसार: राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा द्वारा किए गए विशेषों प्रयासों के चलते मंडी आदमपुर के सरकारी अस्पताल को हरियाणा में बेस्ट अस्पताल के रूप में चुना गया है. अस्पताल का चयन कायाकल्प अवॉर्ड के लिए हुआ, इसके तहत स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ोतरी के लिए अस्पताल को 15 लाख रुपए भी मिले है. अस्पताल में तैनात स्टॉफ के साथ-साथ आदमपुर एरिया के ग्रामीण भी इस उपलब्धि पर खासे खुश है. 2 साल पहले के आदमपुर मंडी में स्थित सामान्य अस्पताल की अगर बात करें तो यहां कहने को ही बिल्डिंग थी, लेकिन हालात यह थे कि जर्जर हालत और चिकित्सकों की कमीं के चलते आदमपुर और इसके आसपास के इलाके के ग्रामीणों को अग्रोहा मेडिकल कॉलेज या फिर हिसार के किसी अस्पताल का रुख करना पड़ता था. लेकिन अब 2019 के आदमपुर मंडी के सामान्य अस्पताल का जिक्र करें तो वहां के हालत को स्वयं नवीनीकरण होने के बाद की अस्पताल की इमारत बयां कर रही है. 

भव्य मुख्य द्वार चमचमाती बिल्डिंग, विशेष एंबुलेंस, पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर, साथ-साथ पूरे स्टॉफ और चिकित्सकों की तैनाती भी. ये संभव हुआ है राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा के प्रयासों से. दरअसल, सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने गोद लिए गए 5 गांवों को स्मार्ट विलेज के रूप में बनाने का जो संपना संयोया है, उसी के तहत सुभाष चंद्रा ने विशेष प्रयास कर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग और सरकार से सामंजस्य स्थापित कर इस अस्पताल की सूरत को पूरी तरह बदल दिया है. सुभाष चंद्रा के प्रयासों से अस्पताल के नवीनीकरण पर पौने 3 करोड़ रुपये खर्च किए गए और सरकार तथा स्वास्थ्य विभाग की तरफ से अन्य योजनाओं का लाभ भी इसे विशेष प्रयासों के जरिए उपलब्ध करवाया गया.

हरियाणा में बना नम्बर वन, 15 लाख का मिला अवॉर्ड: 
मंडी आदमपुर के सामान्य अस्पताल के एसएमओ डॉ. मुकेश सबरवाल ने बताया कि हरियाणा स्टेट हेल्थ रिसोर्स सेंटर की तरफ से बीते दिनों मरीजों को बेस्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ मूलभूत एवं स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं मुहैया करवाने वाले स्वास्थ्य केंद्रों का सर्वे हुआ था. इसी सर्वे की सूची में कभी खस्ताहाल नजर आने वाले इस अस्पताल को जहां मरीज भी जाने से कतराते थे, राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा के प्रयासों के बाद पूरे हरियाणा में सब डिविजनल हॉस्पिटल्स में बेस्ट अस्पताल के रूप में चुना गया है. अस्पताल का चयन कायाकल्प अवॉर्ड के लिए हुआ, इसके तहत स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ोतरी के लिए अस्पताल को 15 लाख रुपए भी मिले है. उन्होंने बताया कि अस्पताल में हर तरह की सुविधा मुहैया करवाई जा रही है, जल्द यहां ब्लड बैंक की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

फर्श को देख पहुंच सकते हैं चिकित्सक के पास: 
अस्पताल की इस उपलब्धि को लेकर पूरे स्टॉफ में भी खुशी का माहौल है. अस्पताल में पहले मरीज आने से भी कतराते थे, आज इस अस्पताल में रोजाना 400 के करीब ओपीडी है. अस्पताल में एंट्री करने के बाद मरीजों और बाहरी लोगों के लिए किसी दूसरे की सहायता या पूछताछ की जरूरत ना पड़े इसे लेकर मेट्रो स्टेशन की तर्ज पर फर्श पर ही पेंट से साइन बनाएं गए है. मसलन मुख्य चिकित्सक कहाँ है या वार्ड कहा है यह फर्श पर लिखे साइन को देख कर पता लगाया जा सकता है.

3 साल पहले ना स्टाफ था ना इंफ़्रा: 
अस्पताल में राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने नवीनीकरण के लिए करीबन पौने 3 करोड रुपये खर्च किए. 3 साल पहले अस्पताल में तैनात हुए चिकित्सकों से भी हमने बातचीत की. अस्पताल में तैनात मेडिकल ऑफिसर द्वारका नाथ ने बताया कि उनकी जहां जब पोस्टिंग हुई थी तो अस्पताल के हालात बुरे थे. चिकित्सक भी पूरे नहीं थे. इतना ही नहीं बिल्डिंग भी कंडर हालात में थी कमरों में पड़ा फर्नीचर भी खराब हो रहा था. इस दौरान राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने अस्पताल में विजिट की और उन्होंने अस्पताल के हालात को देखने के बाद इसके नवीनीकरण का आश्वासन दिया. उनके निर्देश अनुसार प्रदेश सरकार से संवाद किया गया उन्होंने अपनी तरफ से भी इस बारे में प्रदेश के हेल्थ मिनिस्टर अनिल विज को पत्र इत्यादि लिखा. कुछ दिनों बाद इस अस्पताल का नवीनीकरण का प्रदेश सरकार के सहयोग से कार्य शुरू करवाया गया और आज यह अस्पताल अपने आप में अनोखा अस्पताल है. डॉक्टर द्वारका नाथ ने भी कायाकल्प अवार्ड मिलने पर खुशी जाहिर की है.

Hospital

जहां नहीं थे, चिकित्सक वहां, अब दंत रोग के महंगे ईलाज भी फ्री: 
कभी इस अस्पताल में ओपीडी के लिए भी चिकित्सक नहीं मिलते थे, लेकिन आज दांतों के विशेषज्ञ तक तैनात है. इतना ही नहीं दांतों और मसूढ़ों के कैंसर जैसे रोगों की जानकारी मरीजों को देने और दांतों के बेहतर ईलाज के लिए भी सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है. अस्पताल में तैनात दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. अनुराधा ने बताया कि ग्रामीण आंचल में अस्पताल होने के बावजूद अब लोग दांतों का इलाज करवाने के लिए भी इस अस्पताल में आने लगे हैं उन्होंने बताया कि रोजाना 30 से 40 के बीच में मरीज आ रहे हैं इस दौरान उन्हें प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई गई तमाम दंत संबंधित स्कीम के तहत इलाज मुहैया करवाया जा रहा है. इसके अलावा समय-समय पर अस्पताल में दंत पखवाड़ा के तहत कैंप भी लगाए जा रहे हैं.

LIVE टीवी: 

जच्चा-बच्चा घर की भी सुविधा हुई उपलब्ध: 
अस्पताल के अंदर के दृश्य और चमचमाते ओपीडी सेंटर के साथ—साथ मरीजों के लिए बनाए गए वार्ड भी आज आदमपुर एरिया की शान बन चुके है. अस्पताल के चिकित्सकों ने यहां मिलने वाली सुविधाओं का भी जिक्र किया. मेडिकल ऑफिसर डॉ नरेंद्र कुमार कौशिक ने बताया कि अस्पताल में अब जच्चा बच्चा घर भी बनाया गया है इसके अलावा निक्कू वार्ड जैसी सुविधाएं भी आदमपुर जैसे इलाके में उपलब्ध हो गई है. डॉ कौशिक के अनुसार अस्पताल में तमाम तरह के इलाज उपलब्ध है आदमपुर और इसके आसपास के दर्जनों  गांव के लोगों को इसका काफी फायदा हो रहा है. राज्यसभा सांसद डॉ सुभाष चंद्रा के प्रयासों के बाद यहां जच्चा बच्चा घर भी बनाया गया है. बकायदा इसके लिए राज्यसभा डॉ सुभाष चंद्रा ने प्रदेश के तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के साथ पत्राचार भी किया था. आज इस अस्पताल में सिजेरियन डिलिवरी के साथ—साथ तमाम रोगों के जांच की सुविधा मुहैया करवाई गई है. साथ ही एंबुलैंस भी प्रदान की गई, ताकि किसी मरीज को कोई दिक्कत ना हो. 

Hospital

सरपंच बोले, अब बाहर नहीं जाना पड़ता: 
अस्पताल में पहुंचे मरीज अब यहां से मिल रही सुविधाओ का लाभ उठाने के बाद खासे खुश है. गांव के सरपंच सुभाष अग्रवाल का कहना है कि पहले आदमपुर एरिया के अस्पताल की हालत पशु अस्पताल से भी खराब थी, लेकिन आज डॉ सुभाष चंद्रा के प्रयासों के बाद इस अस्पताल का ना सिर्फ कायाकल्प होकर तमाम सुविधाएं मिलने लगी है, बल्कि कैश अवार्ड जैसी सौगात मिलने से एक तरह से आदमपुर का नाम पूरे एरिया में चमका है. वहीं मरीज जगदीश ने बताया कि पहले इलाज के लिए अग्रोहा या फिर हिसार जाना पडता था, जबकि अब यहीं पर इलाज की सुविधाएं मिल जाती है. वो यहां शुगर के इलाज के लिए भर्ती थे, जगदीश ने कहा कि दवाएं मिल गई है. अपने घर से किसी महिला सदस्य की डिलीवरी के लिए पहुंचे सतबीर ने बताया कि अस्पताल में मिल रही सुविधाओं से हो खासे खुश हैं पहले इलाज के लिए बाहर का रुख करना पड़ता था, लेकिन अब गांव के नजदीक ही आदमपुर के अस्पताल में इलाज की सेवाएं मिल जाती.

राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने हिसार जिला के आदमपुर एरिया के 5 गांवों को सासंद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया हुआ है. इन गांवों में सदलपुर, आदमपुर, खारा बरवाला, किशनगढ और आदमपुर शामिल है.