जामिया की वीसी ने छात्रों से कहा, 'दिल्ली पुलिस के खिलाफ दर्ज कराएंगे FIR'

इस दौरान छात्रों ने वीसी से हॉस्टल खाली करने को लेकर सवाल पूछा. इस पर वीसी ने कहा कि हमने कभी भी हॉस्टल खाली करने का आदेश नहीं निकाला है.

जामिया की वीसी ने छात्रों से कहा, 'दिल्ली पुलिस के खिलाफ दर्ज कराएंगे FIR'

नई दिल्ली: जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर नजमा अख्तर ने आज प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मुलाकात की. वीसी ने कहा कि पुलिस कैंपस में कैसे घुसी इसके खिलाफ हम हाईकोर्ट जाएंगे. वीसी ने कहा कि 15 दिसंबर को पुलिस बिना उनकी इजाजत के यूनिवर्सिटी कैंपस में घुसी थी. वहीं छात्रों ने वीसी से हॉस्टल खाली करने को लेकर सवाल पूछा. इस पर वीसी ने कहा कि हमने कभी भी हॉस्टल खाली करने का आदेश नहीं निकाला है. मैंने कहा था कि जो बच्चे बाहर से आए थे उनको बाहर से ताला लगा दो बाहर निकलने नहीं देना.

बता दें एक्जाम रिशेड्यूल किए जाने और दिल्ली पुलिस के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने को लेकर जामिया के छात्र आज वीसी के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे. वाइस चांसलर नजमा अख्तर के बाहर आने पर छात्रों ने वीसी से सवाल किया, 'दिल्ली पुलिस हमारे कैंपस में बिना पूछे आई थी और छात्रों को पीटा था... हम ये बर्दाशस्त नहीं करेंगे.'

छात्रों ने पूछा कि दिल्ली पुलिस के खिलाफ FIR कब होगी? इस पर वाइस चांसलर ने कहा, 'मैंने कह दिया तो कह दिया, एफआईआर होकर रहेगी. छात्रों ने अपनी सुरक्षा को लेकर सवाल पूछा तो वीसी ने कहा, 'FIR करते ही सेक्यूरिटी नहीं होती है...हम सारे कदम उठा रहे हैं. कल से FIR की कार्रवाई शुरू हो जाएगी, हर स्टेप होगा. मैं आप लोगों को छोड़कर कहीं नहीं जा रही हूं.'

यह भी पढ़ें- जामिया में एक बार फिर शुरू हुआ CAA का विरोध, मेन गेट पर भारी भीड़

हॉस्टल खाली करने के सवाल पर वीसी नजमा अख्तर ने कहा, 'मैंने कभी भी हॉस्टल खाली करने का ऑर्डर ही नहीं दिया. मैंने कहा था कि जो बच्चे बाहर से आए थे उनको बाहर से ताला लगा दो, बाहर निकलने नहीं देना.' इस पर छात्रों ने जोर-जोर से चिल्लाकर कहा, 'आप झूठ बोल रहीं हैं, हमें हॉस्टल खाली करने का नोटिस आया आया था.'

जामिया नगर हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने माना- हवा में की गई थी फायरिंग, ये थी वजह
पुलिस की आंतरिक जांच में ये साफ हो गया है कि 15 दिसंबर को मथुरा रोड पर पथराव कर रही भीड़ ने कुछ पुलिस वालों को घेर लिया था और उन पर भारी पथराव हो रहा था. भीड़ को दूर करने और अपनी जान बचाने के लिए पुलिस ने दो गोली हवा में चलाई थीं. हालांकि पुलिस ने ये भी साफ कर दिया है कि गोली किसी भी प्रदर्शनकारी को नहीं लगी थी

दरअसल 15 दिसंबर को एक वीडियो सामने आया था जिसमें पुलिस वाले गोली चलाते हुए दिख रहे थे. उस वीडियो की जांच के बाद ही ये पता चला कि उस दौरान भीड़ ने जब पुलिस वालों को घेर लिया था और लगातार उन पर पत्थरबाजी की जा रही थी, तब पुलिस वालों ने आत्मरक्षा के मकसद से अपनी सर्विस रिवॉल्वर से हवाई फायरिंग की थी. फायरिंग करने के बाद बाकायदा पुलिस वालों ने इसकी जानकारी थाने के रोजनामचे यानी डेली डायरी में दर्ज की. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.