close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा सरकार में BJP का मुख्यमंत्री और JJP का होगा उप मुख्यमंत्री: अमित शाह

हरियाणा में जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के साथ मिलकर बीजेपी सरकार बनाएगी. जेजेपी प्रमुख दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) गृहमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे, जिसके बाद इस गठबंधन का ऐलान किया गया. 

हरियाणा सरकार में BJP का मुख्यमंत्री और JJP का होगा उप मुख्यमंत्री: अमित शाह
हरियाणा में बनेगी BJP-JJP गठबंधन सरकार.

नई दिल्ली: हरियाणा में जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के साथ मिलकर बीजेपी सरकार बनाएगी. जेजेपी प्रमुख दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) गृहमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) से मिलने उनके आवास पर पहुंचे, जिसके बाद इस गठबंधन का ऐलान किया गया. गठबंधन की घोषणा करते हुए गृहमंत्री और बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि हरियाणा में बीजेपी और जेजेपी मिलकर सरकार बनाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार में बीजेपी के मुख्यमंत्री और जेजेपी के उपमुख्यमंत्री होंगे.

शाह ने कहा, 'आज बीजेपी के सभी वरिष्ठ नेताओं और जेजेपी के नेताओं के बीच बैठक हुई. हरियाणा की जनता ने जो जनादेश दिया है, उसको मद्देनजर रखते हुए, उस जनादेश को स्वीकार करते हुए, दोनों पार्टियों के नेताओं ने यह तय किया है कि हरियाणा के अंदर बीजेपी और जेजेपी मिलकर सरकार बनाएंगे. गठबंधन सरकर में मुख्यमंत्री बीजेपी का होगा, जबकि डिप्टी सीएम जेजेपी का होगा. कई निर्दलीय विधायकों ने इस गठबंधन को समर्थन दिया है.' इस गठबंधन के ऐलान के साथ ही स्पष्ट हो चुका है कि मनोहर लाल खट्टर हरियाणा में एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे और दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री बन सकते हैं.

बीजेपी और जेजेपी का यह गठबंधन न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत हुआ है. जेजेपी की ओर से चुनाव प्रचार में किए गए कई वादों को बीजेपी पूरा करने को तैयार हो गई है. साथ ही जेजेपी से कहा गया है कि अगले साल जनवरी में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान वह बीजेपी को जाट वोटों का फायदा कराने में मदद करेंगे. माना जाता है कि दिल्ली में करीब 28 लाख जाट वोटर हैं.

ये भी पढ़ें: 65 के मनोहर लाल और 31 साल के दुष्यंत चौटाला की किसने कराई दोस्ती? पढ़ें पर्दे के पीछे की कहानी

मालूम हो कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सबसे ज्यादा 40 सीटें आई हैं. बहुमत के लिए 46 विधायकों का समर्थन चाहिए. गुरुवार देर शाम तक ही बीजेपी को करीब 7 निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिल चुका था, लेकिन स्थाई सरकार बनाने के उद्देश्य से जेजेपी को साथ लाने की बात हो रही थी. कांग्रेस के पास 31 विधायक हैं. उन्होंने सरकार बनाने के लिए जेजेपी के 10 विधायकों के अलावा पांच निर्दलीय विधायकों के समर्थन की जरूरत होगी.