Zee Rozgar Samachar

जेएनयू केस: मुकदमा चलाने के लिए आप सरकार की नहीं मिली मंजूरी, कोर्ट ने मांगी रिपोर्ट

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जेएनयू के 10 छात्रों के खिलाफ 1,200 पेज का आरोप पत्र दाखिल किया है. इन छात्रों में कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य व सात कश्मीरी शामिल हैं.

जेएनयू केस: मुकदमा चलाने के लिए आप सरकार की नहीं मिली मंजूरी, कोर्ट ने मांगी रिपोर्ट
फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को दिल्ली पुलिस से जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार व छात्र नेता उमर खालिद पर राजद्रोह मामले में मुकदमा चलाने के लिए आप सरकार की मंजूरी के मामले में स्टेटस रिपोर्ट मांगी. मुख्य महानगर दंडाधिकारी (सीएमएम) मनीष खुराना ने संबंधित पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) को इस पर 18 सितंबर को स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है. मामले की अगली सुनवाई 18 सितंबर को होगी. अदालत का यह निर्देश जांच अधिकारी (आई/ओ) के अदालत में दिए गए बयान पर आया है.

आई/ओ ने अदालत से कहा कि उसे मामले में कार्रवाई के लिए दी जाने वाली मंजूरी के संदर्भ में कोई सूचना नहीं है. जेएनयू परिसर में एक कार्यक्रम के दौरान 9 फरवरी 2016 को कथित तौर पर 'राष्ट्र विरोधी' नारे लगाए गए थे. यह कार्यक्रम अफजल गुरु की फांसी की सजा के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर बुलाया गया था.

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जेएनयू के 10 छात्रों के खिलाफ 1,200 पेज का आरोप पत्र दाखिल किया है. इन छात्रों में कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य व सात कश्मीरी शामिल हैं, जिन्हें मामले में मुख्य आरोपी बनाया गया है.

पूरे घटनाक्रम पर एक नजर

9 फरवरी 2016 : संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरू को फांसी पर लटकाये जाने के तीन साल पूरा होने के मौके पर जेएनयू परिसर में मार्च.

10 फरवरी 2016 : जेएनयू प्रशासन ने इस मामले में अनुशासनात्मक कार्रवाई का आदेश दिया.

11 फरवरी 2016 : दिल्ली पुलिस ने भाजपा सांसद महेश गिरि और आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपी की शिकायतों के बाद अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया.

12 फरवरी 2016 : कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी, छात्रों में भारी रोष.

12 फरवरी 2016 : कन्हैया कुमार को देशद्रोह के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा.

15 फरवरी 2016 : पटियाला हाउस अदालत परिसर में हिंसा, कन्हैया कुमार के खिलाफ मामले में सुनवाई से पहले वकीलों ने पत्रकारों, जेएनयू छात्रों और शिक्षकों को राष्ट्रविरोधी बताते हुए उन पर हमला किया.

15 फरवरी 2016 : पटियाला अदालत हमले के मामले में दो प्राथमिकी दर्ज.

17 फरवरी 2016 : पटियाला हाउस अदालत में एक और हंगामे का मामला. वकीलों के कोट पहने लोगों ने कन्हैया कुमार के मामले में सुनवाई से पहले कथित तौर पर पत्रकारों और छात्रों की पिटाई की.

18 फरवरी 2016 : कन्हैया ने उच्चतम न्यायालय में जमानत अर्जी दाखिल की.

19 फरवरी 2016 : उच्चतम न्यायालय ने जमानत अर्जी दिल्ली उच्च न्यायालय को स्थानांतरित की. पुलिस से उचित सुरक्षा बंदोबस्त को कहा.

19 फरवरी 2016 : कन्हैया ने जमानत के लिए उच्च न्यायालय का रुख किया.

23 फरवरी 2016 : पुलिस ने उच्च न्यायालय में कन्हैया की जमानत अर्जी का विरोध किया.

23 फरवरी 2016 : जेएनयू छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य ने आत्मसमर्पण से पहले पुलिस संरक्षण पाने के लिए उच्च न्यायालय का रुख किया.

24 फरवरी 2016 : उमर और अनिर्बान गिरफ्तार.

25 फरवरी 2016 : दिल्ली की अदालत ने जेल में बंद कन्हैया को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा.

26 फरवरी 2016 : अदालत ने कन्हैया को तिहाड़ जेल भेजा.

2 मार्च 2016 : अदालत ने कन्हैया को छह महीने की अंतरिम जमानत दी.

3 मार्च 2016 : दिल्ली की अदालत ने कन्हैया की तिहाड़ जेल से रिहाई का आदेश दिया.

26 अगस्त 2016 : दिल्ली की अदालत ने कन्हैया, उमर और अनिर्बान को नियमित जमानत दी.

14 जनवरी 2019 : पुलिस ने कन्हैया, उमर और अनिर्बान तथा अन्य के खिलाफ देशद्रोह, दंगा भड़काने एवं आपराधिक षड्यंत्र के अपराधों के तहत आरोपपत्र दाखिल किया था.

इनपुट आईएएनएस से भी

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.