close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जमानत पर बाहर आए रेप और अपहरण के आरोपी ने दोबारा किया अपहरण और हत्या

रेप केस की पैरवी करना पड़ा युवक को भारी, जमानत पर बाहर आए आरोपी ने की हत्या

जमानत पर बाहर आए रेप और अपहरण के आरोपी ने दोबारा किया अपहरण और हत्या
जिस वक्त सोनू का अपहरण किया गया वहां मौजूद एक ऑटो वाले ने अपहरणकर्ताओं को देख लिया था

राजू राज, नई दिल्ली: दिल्ली के बदरपुर इलाके के जैतपुर में 29 मई की सुबह एक 34 साल के युवक सोनू का उस वक्त अपरहण कर लिया जाता है जब वो अपने कार के टायर को खोलने जा रहा था. ठीक उसी वक्त घात लगाए 6 किडनैपर्स ने सोनू को उसके सेंट्रो कार को हथियार के बल पर रुकवाया और फिर अपनी इको कार में सोनू को किडनैप कर उसे पलवल होते हुए अलीगढ़ की ओर ले गए. जानकारी के मुताबिक रास्ते मे ही गाड़ी में सोनू की गोली मार कर हत्या कर दी गई और लाश को एक गड्ढे में छुपा दिया गया.

ऑटो वाले ने किया था पुलिस को फोन
जिस वक्त सोनू का अपहरण किया गया वहां मौजूद एक ऑटो वाले ने अपहरणकर्ताओं को देख लिया. उसने ही 100 नंबर पर दिल्ली पुलिस को इस अपहरण की सूचना दी थी. जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने 8 टीम बना कर मामले की जांच शुरू कर दी. जिसके बाद जो खुलासा हुआ वो बेहद ही चौंकाने वाला था.

इसलिए किया गया था सोनू का कत्ल
पुलिस के मुताबिक आरोपी ने साल 2017 में सोनू की भतीजी का अपरहण कर उसका रेप किया था. सोनू ही उस केस की पैरवी कर रहा था. इसलिए आरोपी परविंदर प्रवीण ये कोशिश कर रहा था कि किसी तरह से सोनू केस वापस ले ले. इसलिए सोनू पर दबाव बनाया जा रहा था. लेकिन सोनू केस वापस लेने के लिए तैयार नहीं था. सोनू के नहीं मानने पर उसके अपहरण और कत्ल की साजिश रची गई.

अभी भी तीन आरोपी हैं पुलिस की गिरफ्त से फरार
पुलिस का कहना है कि परविंदर ने सोनू की लाश अलीगढ़ में गड्ढे में छुपाने के बाद उसकी सेंट्रो कार को अलीगढ़ के पास ही जंगलों में जला दिया था जिससे कि कोई सबूत ना बच पाए. पुलिस के मुताबिक आरोपी परविंदर ने कत्ल की इस साजिश में अपने पांच साथियों को भी शामिल किया जिसमें एक नाबालिग भी शामिल था. पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ा है. फिलहाल पुलिस परविंदर के तीन अन्य साथियों की तलाश कर रही है.