close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मनोज तिवारी बोले- आतंकवाद से लड़ने का कारगर हथियार है NRC, दिल्ली में भी हो लागू

मनोज तिवारी ने कहा कि अवैध घुसपैठिये संसाधनों का दोहन करके दिल्लीवालों का हक छीनते हैं. 

मनोज तिवारी बोले- आतंकवाद से लड़ने का कारगर हथियार है NRC, दिल्ली में भी हो लागू
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली में एनआरसी लागू करने की मांग की है. मनोज तिवारी का कहना है कि दिल्ली में एनआरसी लागू होने के बाद दिल्ली की सूरत बदल जाएगी. 

मनोज तिवारी ने NRC को आतंकवाद से लड़ने का कारगर हथियार बताया है. उन्होंने कहा कि अवैध घुसपैठिये संसाधनों का दोहन करके दिल्लीवालों का हक छीनते हैं. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने अवैध घुसपैठियों को दिल्ली की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा बताया. 

मनोज तिवारी ने कहा कि एनआरसी लागू होने के बाद दिल्ली की सूरत बदल जाएगी. एनआरसी लागू होने से दिल्लीवालों को बेहतर जनसुविधाएं मिलने लगेंगी. 

असम में NRC की फाइनल लिस्ट शनिवार को जारी कर दी गई जिसमें 19 लाख से अधिक आवेदक अपनी जगह बनाने में नाकाम रहे. लिस्ट से बाहर रखे गए आवेदकों का अब भविष्य अधर में लटक गया है क्योंकि यह लिस्ट असम में वैध भारतीय नागरिकों की पुष्टि से संबंधित है. 

NRC के राज्य समन्वयक दफ्तर ने कहा कि 3,30,27,661 लोगों ने एनआरसी में शामिल होने के लिए आवेदन दिया था. इनमें से 3,11,21,004 लोगों को दस्तावेजों के आधार पर NRC में शामिल किया गया है और 19,06,657 लोगों को बाहर कर दिया गया है. 

केंद्र सरकार ने असम के लोगों को भरोसा दिलाया कि जिसका लिस्ट में नाम नहीं है, उसे हिरासत में नहीं लिया जाएगा और उसे अपनी नागरिकता साबित करने का हरसंभव मौका दिया जाएगा. जिनका नाम लिस्ट में नहीं होगा वो फ़ॉरेनर्स ट्राइब्यूनल में अपील कर सकेंगे. सरकार ने अपील दायर करने की समय सीमा भी 60 से बढ़ाकर 120 दिन कर दी है.