दिल्ली के वोटरों के लिए बड़े काम की है यह जानकारी, जरूरी बात कहीं आपसे मिस्ड ना हो जाए

इतना ही नहीं वोटिंग से पहले ही घर बैठे आपको पता चल जाएगा कि आपके मतदान केंद्र पर कितनी लंबी लाइन लगी है. ऐसी कई और खास सुविधाएं इस बार दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों में वोटरों को मिलेंगी. चुनाव आयोग ने इसके लिये खास तैयारियां की हैं.

दिल्ली के वोटरों के लिए बड़े काम की है यह जानकारी, जरूरी बात कहीं आपसे मिस्ड ना हो जाए
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में वोटरों की सुविधा बढ़ाने की कोशिश.

नई दिल्ली: दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव में इस बार जब आप वोट डालने जाएंगे तो आपको जो मतदाता पर्ची मिलेगी उस पर एक खास QR कोड होगा. इसे स्कैन करते ही आपके बारे में सारी जानकारी मतदानकर्मी के सामने आ जाएगी इससे मतदान केंद्र पर वक्त कम लगेगा. इतना ही नहीं वोटिंग से पहले ही घर बैठे आपको पता चल जाएगा कि आपके मतदान केंद्र पर कितनी लंबी लाइन लगी है. ऐसी कई और खास सुविधाएं इस बार दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों में वोटरों को मिलेंगी. चुनाव आयोग ने इसके लिये खास तैयारियां की हैं.

दिल्ली में इस बार होने वाले विधानसभा चुनाव हाइटेक होंगे. मतदाताओं की सहूलियत के लिये चुनाव आयोग कई नई तकनीकों का इस्तेमाल पहली बार इन चुनावों में करने जा रहा है. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि इस बार मतदान के लिये मिलने वाली पर्ची पहले वाली पर्चियों से अलग होगी. हर मतदाता पर्ची पर एक खास QR कोड होगा. इस पर्ची को लेकर जब आप मतदान के लिये जाएंगे तो मतदान केंद्र के बाहर बैठा अधिकारी इस QR कोड को स्कैन करेगा, जिससे आपकी सारी जानकारी पलक झपकते ही उसके सामने आ जाएगी. इससे मतदान से पहले मतदाता सूची में नाम ढूंढने और वैरिफाई करने में लगने वाला समय काफी कम हो जाएगा.

अगर किसी के पास मतदाता पर्ची नहीं है तो 'वोटर हेल्पलाइन' की मदद से फोन पर ही मतदाता पर्ची डाउनलोड की जा सकती है. मोबाइल को ही मतदान केंद्र पर दिखाकर वोट डाला जा सकता है. चुनाव आयोग इस बार पोलिंग बूथ के बाहर मोबाइल फोन को जमा कराने के लिये लॉकर का इंतज़ाम भी होगा, जिससे लोगों को मोबाइल लेकर वोट डालने के लिये आने में कोई दिक्कत न हो.

चुनाव आयोग के इस ऐप की मदद से आप मतदान के लिये घर से निकलने से पहले ये भी पता कर सकते हैं कि मतदान केंद्र पर कितनी लंबी लाइन लगी है और उस हिसाब से घर से निकल सकते हैं. इस बार चुनाव आयोग दिव्यांग और बुज़ुर्ग मतदाताओं को घर से मतदान केंद्र तक लाने के लिये वाहन की सुविधा देने का भी इंतजाम कर रहा है जो मांग करने पर उपलब्ध करवाई जाएगी. मतदान केंद्र पर वेटिंग एरिया में बैठने के लिये सोफे और पीने के पानी के लिये डिस्पेंसर का इंतजाम भी किया जाएगा. कुछ मतदान केंद्रों पर चुनावकर्मियों और मतदाताओं के बच्चों के लिये क्रेच या प्ले एरिया भी बनाया जाएगा.

ये भी देखें-: