close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्टार्ट-अप इंडिया की तर्ज पर युवाओं के लिए मोदी सरकार ला रही है एक और खास योजना

योजना के लिए सरकार हर साल 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था युवाओं के इनोवेटिव कोऑपरेटिव (Innovative Cooperative) के लिए करेगी. 

स्टार्ट-अप इंडिया की तर्ज पर युवाओं के लिए मोदी सरकार ला रही है एक और खास योजना
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अगर आप युवा (Yuva) हैं और को-ऑपरेटिव सोसाइटी (Co-operative Society) बना कर सोशल एंटरप्रेन्योरशिप (Social Entrepreneurship) में हाथ आजमाना चाहते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. सरकार एग्री कोऑपरेटिव्स (Agri Cooperatives) के लिए नई योजना लेकर आ रही है. इस योजना का नाम 'युवा सहकार (Yuva Sahkar) योजना' होगा. इस योजना की शुरुआत कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) 11 अक्टूबर को प्रगति मैदान (Pragati maidan) में लगने वाले इंडिया इंटरनेशनल को-ऑपरेटिव ट्रेड फेयर (IICTF) में करेंगे.

योजना के लिए सरकार हर साल 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था युवाओं के इनोवेटिव कोऑपरेटिव (Innovative Cooperative) के लिए करेगी. योजना का फायदा तब मिलेगा जब कोऑपरेटिव (Cooperative) कम से कम एक साल पुरानी हो. अगर ज्यादा पुरानी कोऑपरेटिव हो, तो कम से कम 3 साल उसे कोई आर्थिक नुकसान नहीं हुआ हो. प्रत्येक प्रोजेक्ट की लागत 3 करोड़ रुपये से ज्यादा की नहीं होनी चाहिए. सरकार इन कोऑपरेटिव्स (Cooperatives) को आसान लोन भी देगी. लोन (loan) 5 साल के लिए होगा जिस पर 2 साल तक मूलधन चुकाने में मोरेटोरियम यानि चुकाने में छूट होगी और इनवेस्टमेंट लागत के हिसाब सब्सिडी (Subsidy) भी देगी. वहीं लोन समय पर चुकाने के लिए लोन में 2% की छूट भी मिलेगी.

देखें लाइव टीवी

योजना के तहत सरकार डेट एक्विटी के निश्चित अनुपात में युवा एंटरप्रेन्योर (Young entrepreneur) को सहायता करेगी. केटेगिरी-ए के तहत 80%-20% डेट एक्टिवटी अनुपात होगा. ये कैटेगरी (Category) उनके लिये होगी जो या तो नॉर्थ ईस्ट एरिया के हों, या नीति आयोग के एस्पिरेशनल जिले के अंतर्गत हों या फिर एससी, एसटी, महिला या विकलांग कैटेगिरी में हों. वहीं केटेगिरी-बी में 70%-30% डेट इक्विटी अनुपात में सहायता होगी.
 

इस योजना की देखरेख की जिम्मेदारी नेशनल को-ऑपरेटिव डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (NCDC) के जिम्मे होगी. देश भर में कुल कोऑपरेटिव्स (Cooperatives) की मौजूदा संख्या 8.5 लाख हैं जिनमें से 2.32 लाख कोऑपरेटिव्स इस समय एग्री (Agri) और उससे संबंधित क्षेत्र में हैं. सरकार कोऑपरेटिव्स क्षेत्र का मेकओवर (Makeover) करके देश के किसान, सेल्फ हेल्प ग्रुप (Self Help Group) से जुड़ी महिलाओं की इनकम (income) बढ़ाना चाहती है. इसके लिए सरकार देश में पहली बार इंटरनेशनल कोऑपरेटिव ट्रेडफेयर ( International Cooperative Trade Fair) भी आयोजित कर रही है. इस आयोजन में कृषि मंत्रालय, वाणिज्य मंत्रालय, और विदेश मंत्रालय अहम भूमिका निभा रहे हैं. जबकि इस ट्रेड फेयर में 35 देशों के 150 कोऑपरेटिव्स (Cooperatives) भाग ले रहे हैं जो अपने-अपने प्रोडक्ट्स (Products) यहां पेश करेंगे.