close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुरथल कथित गैंगरेप कांड को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई

हरियाणा के मुरथल में जाट आंदोलन के दौरान गैंगरेप के मामले में पंजाब एवं हरियाणा हाइकोर्ट ने हरियाणा पुलिस को फटकारा है।हाइकोर्ट ने कहा कि मुरथल में गैंगरेप हुआ था और इसके सबूत हैं।

मुरथल कथित गैंगरेप कांड को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई
फाइल फोटो

नई दिल्ली: हरियाणा के मुरथल में जाट आंदोलन के दौरान गैंगरेप के मामले में पंजाब एवं हरियाणा हाइकोर्ट ने हरियाणा पुलिस को फटकारा है।हाइकोर्ट ने कहा कि मुरथल में गैंगरेप हुआ था और इसके सबूत हैं।

घटना पर संज्ञान लेते हुए चश्मदीदों के बयान के बाद कोर्ट ने वृहस्पतिवार को कहा कि मुरथल में इस बात के प्रमाण हैं कि वहां महिलाओं के साथ दुराचार हुआ है।हाइकोर्ट ने चश्मदीदों के बयान और फटे कपड़ों को सबूत माना है। कोर्ट ने हरियाणा पुलिस से गुनहगारों को जल्द गिरफ़्तार करने को कहा है।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने सुर्खियों में आए इस मामले पर संज्ञान लेते हुए सुनवाई जारी रखी है। बेंच ने गुरुवार को कहा कि मौके से महिलाओं के अंडरगार्मेंट्स, और टैक्सी ड्राइवर के उस बयान को देखते हुए जाहिर हो रहा है कि रेप हुए हैं। बयान के मुताबिक उपद्रवियों ने महिलाओं को जबरन टैक्सी से बाहर खींचा था। ऐसे में एसआईटी को गंभीरता के साथ दोषियों का पता लगाने का काम करना चाहिए।

दरअसल, हरियाणा सरकार और मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी का लगातार यह कहना रहा है कि मुरथल में कोई गैंगरेप नहीं हुआ, सिर्फ छेड़छाड़ हुई थी। इस मामले से जुड़ी खबरें मीडिया में आने के बाद हरियाणा कोर्ट द्वारा पुलिस से जवाब-तलब किए जाने पर पुलिस ने इस घटना की एफआईआर दर्ज की थी।

पुलिस ने मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था। बाद में अंडरगारमेंट्स में मिले सीमन से इनका ब्लड मैच न होने पर आरोपियों से रेप के चार्जेज हटा लिए गए थे।