ZEE जानकारी : हरियाणा के एक गांव में अब रोज सुबह गाया जाएगा राष्ट्रगान

फरीदाबाद ज़िले में एक गांव है...भनकपुर . इस गांव की आबादी करीब 5 हज़ार है . हिंदुस्तान के हर गांव की तरह ये भी एक सामान्य गांव है लेकिन यहां आज एक बहुत विशेष घटना हुई है. गुरुवार से इस गांव में रोज़ सुबह राष्ट्रगान गाने की परंपरा की शुरुआत हुई है .

ZEE जानकारी : हरियाणा के एक गांव में अब रोज सुबह गाया जाएगा राष्ट्रगान

आपको बहुत से ऐसे लोग मिलते होंगे जो ये कहते होंगे कि इस देश का कुछ नहीं हो सकता... ये देश तो ऐसे ही चलेगा.. सरकार चाहे कितनी ही नीतियां बना लें.. कोई भी योजना लागू कर ले.. देश का भला कभी नहीं होने वाला... क्योंकि यहां की जनता जागरूक नहीं है . ऐसी निराशाजनक बातें कहने वाले बहुत सारे लोग आपने अपने आस-पास जरूर देखे होंगे . लेकिन Zee News आप से बार-बार कहता है कि हमारे देश के DNA में विश्व गुरु बनने की सारी योग्यताएं हैं . बस हमें ऐसे निराशाजनक विचारों से दूर रहना है . अपने विचारों को Positive बनाना है . और ईमानदारी के साथ अपने हिस्से की ज़िम्मेदारी निभानी है.

आज हमारे पास हरियाणा के फरीदाबाद ज़िले से एक Postive खबर आई है . फरीदाबाद ज़िले में एक गांव है...भनकपुर . इस गांव की आबादी करीब 5 हज़ार है . हिंदुस्तान के हर गांव की तरह ये भी एक सामान्य गांव है लेकिन यहां आज एक बहुत विशेष घटना हुई है. गुरुवार से इस गांव में रोज़ सुबह राष्ट्रगान गाने की परंपरा की शुरुआत हुई है . अब यहां रोज़ सुबह 8 बजे लोग राष्ट्रगान गाएंगे .

आपको याद होगा... पिछले वर्ष नवंबर के महीने में हमने आपको तेलंगाना के करीमनगर ज़िले के एक गांव के बारे में बताया था . इस गांव में 15 अगस्त 2017 से हर रोज़ सुबह 8 बजे सभी लोग राष्ट्रगान गाते हैं . हरियाणा के भनकपुर गांव के लोगों ने भी तेलंगाना के इसी गांव से प्रेरणा ली . 

भनकपुर गांव के सरपंच ने DNA में दिखाई गई ख़बर का Video Twitter पर देखा . ये वही Video था जिसमें हमने तेलंगाना के जम्मिकुंटा गांव के लोगों की राष्ट्रभक्ति का विश्लेषण किया था . हमने आपको ये बताया था कि कैसे राष्ट्रगान के प्रभाव से.. गांव में लोगों का जीवन बदल रहा है . कानून व्यवस्था सुधर रही है और अपराध में कमी आ रही है . इस ख़बर से प्रेरणा लेते हुए गांव के सरपंच सचिन मंडोतिया ने हर रोज़ राष्ट्रगान गाने का संकल्प लिया . 
हमारे देश के राष्ट्रगान में इतनी ऊर्जा है कि ये करोड़ों लोगों का जीवन बदल सकता है. अगर हमारे इस प्रयास से देश के नागरिकों को नैतिक ऊर्जा मिलती है . तो ये हमारे लिए बहुत खुशी और गौरव की बात है. 

हरियाणा का ये गांव एक और वजह से भी बधाई का पात्र है . एक तरफ आज यहां राष्ट्रगान की एक अच्छी परंपरा शुरू हुई है और दूसरी तरफ यहां एक गलत परंपरा को खत्म किया गया है . आज पहली बार इस गांव की चौपाल में महिलाओं ने कदम रखा है. इसके लिए भी हम इस गांव को बधाई देते हैं. निराशा फैलाने वाले लोग अगर चाहें तो आज इस देशभक्त गांव से प्रेरणा ले सकते हैं.

हरियाणा के इस गांव ने देशभक्ति की एक अच्छी परंपरा को आगे बढ़ाया है. देश के तमाम लोग इस गांव के लोगों से प्रेरणा ले सकते हैं. आप भी अपने जीवन में राष्ट्रगान के लिए 52 सेकेंड सुरक्षित रखिए... ऐसा करके आपको अच्छा लगेगा.