रेलकर्मियों की मांगों को लेकर URM से उठाई आवाज, DRM को सौंपा ज्ञापन

उत्तरीय रेलवे मजदूर संघ ने दिल्ली के डीआरएम कार्यालय के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते हुए अपनी मांग को रखा. 

रेलकर्मियों की मांगों को लेकर URM से उठाई आवाज, DRM को सौंपा ज्ञापन

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे के उत्तरी भाग में काम करने वाले मजदूरों के हितों के लिए एक बार फिर आवाज उठी है. मंगलवार (12 जून) को एक बार फिर उत्तरीय रेलवे मजदूर संघ ने दिल्ली के डीआरएम कार्यालय के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते हुए अपनी मांग को रखा. बता दें कि पिछले काफी वक्त से संघ अपनी मांगों के लेकर प्रदर्शन कर रहा है. 

क्या है उत्तरीय रेलवे मजदूर संघ की मांग
जानकारी के मुताबिक, उत्तरीय रेलवे मजदूर संघ प्रशासन द्वारा लागू की गई नई पेंशन स्कीम को हटाने की मांग रहा है. संघ का कहना है कि पुरानी स्कीम, नई स्कीम से ज्यादा बेहतर है इसलिए उसे दोबारा से लागू किया जाना चाहिए. इसके साथ ही संघ की मांग है उत्तरीय रेलवे में टैक्नीशियन ग्रेड, ट्रैक मेंटेनर, रनिंग स्टॉफ की सम्याओं को खत्म करने के लिए कोई ठोस कदम उठाया जाना चाहिए. वहीं, संघ का यह भी कहना है कि उत्तरीय रेलवे में कई सारे पद खाली हैं और बोर्ड कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है, इसलिए रिक्त पदों को जल्द से जल्द भरा जाना चाहिए. 

इस प्रदर्शन में हेडक्वार्टर डिवीजन एवं लेखा मंडल के साथियों ने प्रधान कार्यालय बड़ौदा हाउस नई दिल्ली में हुए इस धरने पर यूनियन के महामंत्री बी सी शर्मा, अध्यक्ष एस एन मलिक, कार्यकारी अध्यक्ष प्रेम कुमार सोलंकी,संगठन मंत्री सुभाष चंद,मनोज कुमार व मंडल मंत्री रमणीक शर्मा समेत उत्तरीय रेलवे के कई लोग शामिल हुए.

अजय माकन ने की बातचीत
पयूनियन के नेताओं ने प्रदर्शन में कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन भी पहुंचे. प्रदर्शन कर रहे लोगों से बातचीत करते हुए अजय माकन ने कहा कि वह यूनियन की हर तरह से मदद करेंगे. अजय माकन से बातचीत करने के बाद संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने डीआरएम नई दिल्ली व महाप्रबंधक उत्तर रेलवे को अपना ज्ञापन सौंपा.