close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुख्यात तस्कर सुरजभान उर्फ सरजू बागड़ी को जेल, सलाखों में बिताने होंगे 4 साल

सुरजभान को दिल्ली पुलिस ने सितंबर 2013 में उसके दो साथियों, सुरजपाल उर्फ चाचा और नरेश उर्फ लाला के साथ गिरफ्तार किया था. पुलिस ने इनकी कार से बाघ की खाल और दूसरे अंग बरामद किये थे.

कुख्यात तस्कर सुरजभान उर्फ सरजू बागड़ी को जेल, सलाखों में बिताने होंगे 4 साल

नई दिल्ली: दिल्ली की स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने कुख्यात तस्कर सुरजभान उर्फ सरजू बागड़ी को 4 साल की सज़ा सुनाई है. ये सजा मनी लॉड्रिंग मामले में सुनाई गई है जो कि जंगली जानवरों की सुरक्षा कानून से जुड़ा हुआ है. अदालत ने सुरजभान पर 10000 रुपये जुर्माना भी लगाया और साथ ही उसकी 52.7 लाख रुपये की संपति भी जब्त करने के आदेश दिये हैं.

सुरजभान को दिल्ली पुलिस ने सितंबर 2013 में उसके दो साथियों, सुरजपाल उर्फ चाचा और नरेश उर्फ लाला के साथ गिरफ्तार किया था. पुलिस ने इनकी कार से बाघ की खाल और दूसरे अंग बरामद किये थे. सुरजपाल उर्फ चाचा इस पुरे गिरोह का मुखिया था और कुख्यात शिकारी और तस्कर संसार चंद का साथी था. सुरजभान भी संसारचंद के लिये काम किया करता था और करीब 20 बाघों का शिकार वह कर चुका है. दिल्ली में गिरफ्तारी के बाद नागपुर पुलिस भी उसे पुछताछ के लिये ले कर गयी थी, क्योंकि सुरजभान वहां के जंगलों में भी शिकार कर चुका है.

लाइव टीवी देखें-:

ED ने दिल्ली पुलिस की FIR पर दिसंबर 2013 में तीनों गिरफ्तार आरोपी सुरजभान उर्फ सरजू बागड़ी, नरेश उर्फ लाला और सुरजपाल उर्फ चाचा के खिलाफ मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज किया था. मार्च 2015 में ED ने इस मामले में चार्जशीट भी दाखिल कर दी थी. 

जांच के दौरान ही इस गिरोह के मुखिया सुरजपाल उर्फ चाचा की मौत हो गयी थी, जिसकी वजह से सुरजपाल के खिलाफ चल रही सुनवाई खत्म हो गयी. आरोपों की सुनवाई के बाद अदालत ने 9 सितंबर 2019 को नरेश उर्फ लाला को सबूतों के भाव में बरी कर दिया जबकि सुरजभान उर्फ सरजू बागड़ी को 4 साल की सज़ा सुनाई है.

जानवरों के शिकार और उनके अंगों की तस्करी में संसारचंद काफी कुख्यात नाम था और दिल्ली पुलिस ने 2005 में तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किय था और उसकी मौत भी जेल में बीमारी के कारण हुई थी. हालांकि संसार चंद तस्करी के मामले में इतना कुख्यात हो चुका था कि उसके साथ काम करने वाले लोग अलग अलग गिरोह बनाकर देश के जंगलों में शिकार कर रहे है. संसार चंद का बेटा आकाश जो दिल्ली करोल बाग में इलेक्ट्रॉनिकस की दुकान चलाता था लेकिन असल में जानवरों के अंगों की तस्करी का कारोबार किया करता था. दिल्ली पुलिस ने संसार चंद के बेटे आकाश को भी 2016 में गिरफ्तार किया था.