जेएनयू छात्रा से बलात्कार की कोशिश का मामला, लापरवाही बरतने पर एसआई निलंबित

घटना 14 अगस्त की है. जेएनयू के छह छात्र व एक छात्रा सूरजकुंड क्षेत्र में असोला वन्यजीव अभयारण्य के अंदर बनी एक झील के पास घूमने गए थे. 

जेएनयू छात्रा से बलात्कार की कोशिश का मामला, लापरवाही बरतने पर एसआई निलंबित
जेएनयू छात्रा से बलात्कार की कोशिश का मामला, एसआई निलंबित (प्रतिकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: फरीदाबाद के सूरजकुंड इलाके में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी की छात्रा के साथ छेड़छाड़ व बलात्कार के प्रयास के मामले में लापरवाही बरतने पर पुलिस आयुक्त ने सब इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है. आरोप है की मामले में जब पीड़ित सूरजकुंड थाने पहुंचे तो वहां उनकी शिकायत दर्ज नहीं की गई. इतना ही नहीं पुलिस ने उन पर दबाव बनाते हुए जबरन ये लिखवा लिया कि वो घटना के संबंध में कोई कार्रवाई नहीं चाहते.

बताया जा रहा है कि जेएनयू के छात्रों की ओर से बसंतकुज थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट और शुक्रवार को पुलिस आयुक्त से शिकायत के बाद फरीदाबाद पुलिस हरकत में आई है, जिसके बाद सूरजकुंड थाने ने केस दर्ज कर लिया है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने मामले में चार आरोपियों की पहचान कर ली है.

और पढ़ें, सुप्रीम कोर्ट ने कहा: वैवाहिक बलात्कार अपराध नहीं

क्या है मामला

घटना 14 अगस्त की है. जेएनयू के छह छात्र व एक छात्रा सूरजकुंड क्षेत्र में असोला वन्यजीव अभयारण्य के अंदर बनी एक झील के पास घूमने गए थे. रात को करीब 8:30 बजे वहां से वापिस आते समय छात्रा और उसके दो दोस्त बाइक पर मुख्य रोड पर जा रहे थे जबकि अन्य चार छात्र पीछे पैदल आ रहे थे. इसी बीच कुछ लोगों ने उनकी बाइक को घेरते हुए रोक लिया और उनके साथ बैठे अल्पसंख्यक छात्र को धार्मिक भावना भड़काने वाली बात कहने लगे. 

और पढ़ें, दिल्‍ली : 5 स्‍टार होटल में महिला से छेड़छाड़ कैमरे में हुई कैद, देखें VIDEO

जब उन्होंने इसका विरोध किया तो आरोपियों ने उन पर डंडों से हमला कर दिया और छात्रा के साथ छेड़छाड़ करते हुए बलात्कार की कोशिश की. आरोप है कि मामले में जब छात्र शिकायत दर्ज करवाने पहुंचे तो पुलिस ने उनसे जबरन यह लिखवा कर साइन करवा लिया कि वे कोई कार्रवाई नहीं चाहते. 

हालांकि, मामले में सूरजकुंड के एसएचओ का कहना है कि यह आरोप गलत है. सीसीटीवी फुटेज में साफ है कि स्टूडेंट ने बगैर किसी दबाव के कारवाई नहीं करने का बयान दिया था.