VIDEO: दिल्ली चुनाव रैली में योगी बोले- केजरीवाल के बाद अब ओवैसी भी एक दिन हनुमान चलीसा पढ़ेंगे

योगी आदित्नाथ ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं दिल्ली क्या पहुंचा- केजरीवाल हनुमान चालीसा पढ़ने लगे. आगे-आगे देखिए ओवैसी भी हनुमान भजन करेंगे.

VIDEO: दिल्ली चुनाव रैली में योगी बोले- केजरीवाल के बाद अब ओवैसी भी एक दिन हनुमान चलीसा पढ़ेंगे
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किराड़ी से भाजपा प्रत्याशी अनिल झा और पटपड़गंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रवि नेगी के समर्थन में नुक्कड़ सभा को संबोधित किया. इस अवसर पर प्रदेश, जिला व मंडल के वरिष्ठ नेता और सैकड़ों की संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे. योगी आदित्नाथ ने सभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल को निशाने पर लिया और कहा कि मैं दिल्ली क्या पहुंचा- केजरीवाल हनुमान चालीसा पढ़ने लगे. आगे-आगे देखिए ओवैसी भी हनुमान भजन करेंगे.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केजरीवाल ने दिल्ली में मेरी सभा पर बैन की मांग इसलिए किया क्योंकि वो सच बर्दाश्त नहीं कर सकते और झूठ बोलना केजरीवाल की आदत है. केजरीवाल बोलते कुछ और हैं और करते कुछ और हैं. बातें तो दिल्ली के विकास की करते हैं, लेकिन देशविरोधी तत्वों के प्रति सहानभूति रखते हैं. इनके आदमी बलात्कार पीड़िता के गुनहगारों फांसी रोकते हैं तो वहीं सिलाई मशीन देते हैं.

केजरीवाल भारत में सुशासन के प्रति नहीं, भारत के विकास के प्रति नहीं. नौजवानों के लिए, गरीबों के लिए, महिलाओं के प्रति इनके मन में न सहानुभूति न सम्मान है, इनकी सहानुभूति तो शाहीन बाग और निजामुद्दीन में बिरयानी खिलाने वाले लोगों के प्रति है.  

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन रही है, इसलिए अरविंद केजरीवाल बौखलाए हुए हैं, क्योंकि विकास के इन फर्जी नमूनों को दिल्ली की जनता करारी शिकस्त देने जा रही है. मैं पिछले चार दिनों से दिल्ली के कोने कोने में जा रहा हूं. टूटी सड़कें, जर्जर तार, ड्रैनेज सिस्टम ठीक नहीं है. 

मैं पूछना चाहता हूं कि केजरीवाल केन्द्र सरकार की जनहित की योजनाएं दिल्ली में क्यों लागू नहीं की. वो इसलिए क्योंकि इनके फर्जी विकास के ढ़ोल की पोल खुल जाती. केन्द्र सरकार ने देश के दो करोड़ परिवारों को आवास, चार करोड़ लोगों को कनेक्शन, 8 करोड़ महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिया, 12 करोड़ किसान सम्मान निधि प्राप्त किए, 15 करोड़ नौजवान पीएम की मुद्रा योजना से स्टार्टअप और आर्थिक स्वालबंन में सहयोग दिया जा रहा है.

जनधन से खुले बैंक अकाउंट में सरकारी योजनाओं से मिले लाभ सीधे खाते में जा रहा है, पचास करोड़ गरीबों को आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख के मुफ्त इलाज की गारंटी दी है, लेकिन इसे भी केजरीवाल ने दिल्ली में लागू नहीं होने दिया है.

योगी आदित्नाथ ने कहा कि मैं केजरीवाल से जानना चाहता हूं वे दिल्ली को कहां लेकर जाना चाहते हैं. विकास का उनके पास कोई मॉडल नहीं है. एक ओर भाजपा सरकारों की कल्याणकारी योजनाओं से जनता को लाभ हुआ है. वहीं केजरीवाल की हरकतों ने सौहार्द बिगाड़ा है. धरना तो एक बहाना है और मकसद माहौल बिगाड़कर अपना उल्लू सीधा करना है.

मोदी सरकार ने पिछले पांच सालों में गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लेकर आई. जब भाजपा ने लोकसभा में अनुच्छेद 370 को समाप्त किया था तो सारे देश में खुशी मनाई जा रही थी, लेकिन केवल तीन ही लोग ऐसे थे, जिन्हें दुख था. एक राहुल गांधी थे. दूसरे केजरीवाल थे और तीसरा पाकिस्तान में बैठा इमरान खान था. इन्हीं तीन लोगों को दर्द हुआ था.

तीन तलाक पर भी इन्हीं तीनों को दर्द हुआ था. कुछ लोग कहते थे कि राम मंदिर का फैसला आया तो खून की नदिया बहेंगी. 370 हटा तो खून की नदियां बहेगी, तीन तलाक हटा तो खून की नदिया बहेंगी, लेकिन दिखाया कि खून की नदियां इस देश में सौहार्द की नदियां बहेंगी. इसलिए दिल्ली की विकास सुनिश्चित करने के लिए 8 फरवरी को पोलिंग बूथ तक जाएं और भारतीय जनता पार्टी को भारी मतों से विजयी बनाएं.