ट्रेन में मिला पैकेट, 16 परतें खोलने पर पुलिस को मिला 61 किलो ड्रग्स

आरपीएफ के डीएससी हरीश सिंह पपोला (दिल्ली ईस्ट) ने ZEE न्यूज़ को बताया की मेरठ रेलवे स्टेशन आरपीएफ की टीम को सूचना मिली कि बिलासपुर से मेरठ की तरफ आने वाली कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन की पार्सल कोच में दो संदिग्घ बैग आ रहे हैं. 

ट्रेन में मिला पैकेट, 16 परतें खोलने पर पुलिस को मिला 61 किलो ड्रग्स

नई दिल्ली: रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) ने मेरठ रेलवे स्टेशन से 61 किलो ड्रग्स बरामद किया है, जिसकी कीमत करीब साढ़े 4 लाख रुपए है. ड्रग्स माफिया ने गांजे को इस कदर पैक किया था कि पुलिस के पसीने छूट गए. पैकिंग में करीब 16 कम्बल का इस्तेमाल किया गया था. अब RPF सीसीटीवी की मदद से आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

आरपीएफ के डीएससी हरीश सिंह पपोला (दिल्ली ईस्ट) ने ZEE न्यूज़ को बताया की मेरठ रेलवे स्टेशन आरपीएफ की टीम को सूचना मिली कि बिलासपुर से मेरठ की तरफ आने वाली कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन की पार्सल कोच में दो संदिग्घ बैग आ रहे हैं. तभी मेरठ रेलवे स्टेशन के इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार ने अपने स्टाफ के साथ ट्रैप लगाया. जैसे ही ट्रेन मेरठ रेलवे स्टेशन पर पहुंची, तो उसके बाद दूर से पार्सल कोच पर नजर रखी गई. 

उसी बीच दो बैग पार्सल में लाए गए. उन दोनों बैग को लेने वाले का इंतजार किया गया, लेकिन जब बहुत देर तक उसको कोई लेने नहीं आया तो, आरपीएफ स्टाफ ने खुद उस पैकिंग को खोला, लेकिन पैकिंग पर कंबल की 16 लेयर बनाई गई थी. ऊपर से प्लस्टिक बोरी से पैक किया गया. पैकिंग को देखकर पुलिस वाले भी हैरान रह गए, जिस तरह से उसे पैक किया गया.

पुलिस ने गांजे की तौल कराई तो उसका वजन 61 किलो मिला, जिसकी कीमत करीब 4 लाख 27 हज़ार रुपए आंकी गई. पुलिस को पैकिंग पर चद्रशेखर नाम की चिट भी मिली, जिस पर पुलिस ने 8/21 एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया. अब आरपीएफ बिलासपुर रेलवे स्टेशन से जहां से ये गांजा भेजा गया, वहां लगे सीसीटीवी की मदद से आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.