close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लड़का पैदा कराने वाले गिराह का हुआ पर्दाफाश, 1 बच्चे के लिए लेते थे 8 से 9 लाख रुपए

दिल्ली में एक ऐसे कॉल सेंटर का भंडाफोड़ हुआ है जिनका टाई अप पूरे देश भर में अलग अलग IVF सेन्टर से था और जो बेटे की चाह रखने वाले दंपत्ति से संपर्क साधते.

लड़का पैदा कराने वाले गिराह का हुआ पर्दाफाश, 1 बच्चे के लिए लेते थे 8 से 9 लाख रुपए

नई दिल्ली: दिल्ली में एक ऐसे कॉल सेंटर का भंडाफोड़ हुआ है जिनका टाई अप पूरे देश भर में अलग अलग IVF सेन्टर से था और जो बेटे की चाह रखने वाले दंपत्ति से संपर्क साधते. फिर ivf सेंटर में भेजते जहां से उनको थाईलैंड, सिंगापुर और दुबई भेजा जाता था और एवज में करीब 8 से 9 लाख रुपए  जाते थे. सेंट्रल मिनिस्ट्री, दिल्ली पुलिस के अलावा दिल्ली सरकार के परिवार कल्याण मंत्रालय ने सोमवार को इस रेड को अंजाम दिया. कीर्ति नगर का ivf सेन्टर है जहां से इस रेड की शुरुआत हुई. फिर यहीं से इसके कॉल सेंटर जो करोल बाग में है इसके जरिये चल रहे इस गिरोह तक फर्दाफ़ाश हुआ.

इसके बाद टीम ने करोल बाग के कोरिया प्लाजा में चल रहे कॉल सेंटर पर छापा मारा. डॉ नूतन मुंडेजा, निदेशक, परिवार कल्याण मंत्रालय, दिल्ली सरकार ने बताया कि लगभग 300 कर्मचारी इस कॉल सेंटर से उन दंपत्तियों से संपर्क कर रहे थे जिनको बच्चे नहीं हो पा रहे हैं. जो बेटे की चाह रखते थे?? उसके बात करते हुए ये उनको ऑप्शन देते हैं कि जो भी दंपत्ति कहते हैं कि हम लड़के की चाह है तो फैमिली बैलेंसिंग के नाम पर उनको ये सुविधा उपलब्ध करवाते थे. साइबर क्राइम और FSL की टीम के जरिये इनके डेटा तक पहुंचने की है ताकि जिन दम्पतियों ने मदद ली उन तक पहुंचा जा सके.

देशभर के 100 से IVF सेंटर्स से कॉल सेंटर चलाने वाली कंपनी इला विमेन ने MoU कर रखा था. 8 से 9 लाख की रक़म में इला वीमेन का 20% का हिस्सा होता था. 6 लाख दम्पतियों से कॉल सेंटर के जरिये संपर्क किया गया. बताया जा रहा है कि केवल दिल्ली में 200 दम्पतियों की इन्होंने मदद की है.

फिलहाल कॉल सेंटर पर ताला लगा है पर अब साइबर क्राइम की टीम की मदद से ये तमाम लैपटॉप से जानकारी जुटाई जाएगी.