मेट्रो यात्री हो जाएं अलर्ट, वरना बाद में मत कहना- 'मैं तो लूट गया'

मेट्रो में यात्रियों की जेब साफ करने वाले चोरों के खिलाफ पुलिस ने अभियान छेड़ रखा है. 

मेट्रो यात्री हो जाएं अलर्ट, वरना बाद में मत कहना- 'मैं तो लूट गया'
बीते तीन महीने में कुल 143 चोर को पकड़ पुलिस जेल भेज चुकी हैं.

नई दिल्ली: मेट्रो में यात्रियों की जेब साफ करने वाले चोरों के खिलाफ पुलिस ने अभियान छेड़ रखा है. बीते तीन महीने में कुल 143 चोर को पकड़ पुलिस जेल भेज चुकी हैं. इनमें तीन शातिर चोर अलग -अलग अलग मेट्रो स्टेशन से पकड़े गए. आरोपियों की पहचान मोहम्मद इमरान, पवन शर्मा और पहाड़गंज निवासी आकाश के तौर पर हुई. डीसीपी मेट्रो विक्रम के पोरवाल ने बताया तीन सितम्बर को ईस्ट पंजाबी बाग निवासी हिमांशु की जेब से अशोक पार्क मेट्रो स्टेशन से 2,35,000 रुपए चुरा लिए थे. मामले की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज किया.

जांच के दौरान मेट्रो स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चैक की, जिसमें आरोपी की पहचान हो गई.18 नवम्बर को पुलिस ने इसी फुटेज की मदद से इंद्रलोक मेट्रो स्टेशन से इसे दबोच लिया. आरोपी ने पुलिस को बताया की बीते दस साल से जेबतराशी की वारदात कर रहा था.

वह तीन मामले में शामिल पाया गया है. इसके पास से पचास हजार रुपए मिले हैं..पर्स ओर मोबाइल इसके निशाने पर होते थे.17 नवम्बर को पुलिस ने यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन से आकाश को दबोचा. वह पहाड़गंज एरिया का रहने वाला है. उस पर किडनेपिंग का एक केस पहले से दर्ज है.

वहीं, पवन शर्मा को कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन से दबोचा. एक्सक्लेटर का इस्तेमाल करते वक्त इस आरोपी ने एक शख्स के बैग में हाथ डाला था, जिसे पीड़ित ने रंगे हाथ पकड़ लिया. खुद को फंसता देख आरोपी वहां से भाग निकला. शोर शराबे की आवाज सुन एक कांस्टेबल ने पवन को पकड़ लिया.