राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा के प्रयास रंग ला रहे, किसानों की बढ़ी आमदनी

कंपनी के कार्यालय का उद्घाटन 4 अगस्त 2019 को खुद राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने किया था.

राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा के प्रयास रंग ला रहे, किसानों की बढ़ी आमदनी
हिसार के आदमपुर में खुला कार्यालय.

हिसार: सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा (Dr. Subhash Chandra) के गोद लिए गए गांवों को स्मार्ट विलेज का रूप देने का प्रयास लगातार जारी है. इन गांवों में मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ किसानों की आमदन बढ़ाने के लिए भी खास कदम उठाए जा रहे हैं. इसी कड़ी में किसानों के लिए बनाई गई आदमपुर फार्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी के साकारात्मक परिणाम भी अब सामने आने लगे हैं.

कंपनी के कार्यालय का उद्घाटन 4 अगस्त 2019 को खुद राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने किया था. कंपनी में 10 सदस्य डॉयरेक्टर हैं. खास बात यह है कि ये सभी किसान ही हैं, क्योंकि किसान ही किसान के बारे में अच्छे से सोच सकता है. इसके साकारात्मक परिणामों का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि राष्ट्रीय कृषि बाजार यानी eNAM के जरिए हाल ही में सरसों की फसल की पहली बार ऑनलाइन ट्रेडिंग करवाई गई. किसान को केवल 38.75 क्विंटल की ही सरसों बेच पर 3637 रुपए मार्केट से ज्यादा मिले. इसके साथ ही जो आढ़त के कमीशन के तौर पर आदमपुर फार्मर्स प्रोडूसर कंपनी को 3874 रुपए मिले, वो भी कंपनी ने किसान को बोनस के रूप में दे दिए. मसलन, किसान को फायदा हुआ पूरे 7511 रुपए का. यानि किसान को इस राशि का तो फायदा हुआ ही, साथ ही खास बात यह रही कि जो आढ़ती को कमीशन मिलता है, वो भी किसान को बोनस के रूप में दे दिया गया.  

पांच गांवों को गोद लिया है
आदमपुर फार्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी के डायरेक्टर इंद्र सिंह ने कहा कि जब से कार्यालय खुला है, तभी से  कार्यालय में किसान पहुंचे हैं. उन्हें बीज के बारे में, खाद के बारे में और फसल की पैदावार से संबंधित तमाम पहलुओं के जवाब दिए जा रहे हैं. मंथन का यह दौर हर रोज चलता है. उन्होंने बताया कि राज्यसभा सांसद डॉ सुभाष चंद्रा ने जैसा कि आदमपुर एरिया के पांच गांवों को गोद लिया है, ऐसे में वो चाहते है कि इन गांवों के किसानों की आमदन भी बढ़े. इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए और किसानों को ज्यादा मुनाफा मिल सके, इसके लिए आदमपुर फॉर्मर्स प्रोडूसर कंपनी बनाई गई.
 
किसान बोले, अच्छे प्रयास हैं
आदमपुर एरिया के किशनगढ़ के किसान सतबीर सिंह ने कहा कि फायदा हर किसान को मिले, बीच के चंगुल की आजादी से लेकर किसान को उसकी मेहनत का अच्छा दाम मिले और बाजार में चल रही नकली खाद-बीज की धोखाधड़ी से किसानों को बचाया जा सके. यहीं सबसे बड़ी सोच है. किसान यहां पहुंचते हैं, अपने-अपने हिसाब से जानकारी जुटाते हैं और खासे खुश और टेंशन फ्री नजर आते हैं.

अब दूर जाने की झंझट से मिला छुटकारा
जैविक खेती की जानकारी लेने पहुंचे राहुल ने कहा कि पहले वो इस प्रकार की जानकारी के लिए हिसार या अन्य किसी इलाके में जाना चाहते थे. लेकिन अब नज़दीक ही इस केंद्र से फायदा मिल रहा है.

डॉ. चंद्रा का आभार जताते नहीं थकते किसान
बागवानी के इच्छुक भानीराम ने बताया कि यहां से उन्हें सब पहलुओं पर जानकारी मिल गयी है. मसलन मिट्टी जांच कहां से होगी? बाग कौन-सा लगाना है? इन तमाम पहलुओं पर पता चला है. कुलमिलाकर किसान इन सब प्रयासों के लिए राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा का आभार जताते नहीं थकते. साथ ही किसानों ने हर एमपी और हर एमएलए के ऐसे ही प्रयास किए जाने की भी उम्मीद की है.
 
मार्केट बोर्ड के अधिकारी बोले- प्रयास अच्छे हैं
आदमपुर फॉर्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी के प्रयासों की मार्केट बोर्ड भी सराहना कर रहा है. आदमपुर अनाज मंडी में स्थित मार्केट बोर्ड के मुख्य कार्यालय के एसिस्टेंट सेक्रेटरी संजीव कुमार का कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई राष्ट्रीय कृषि बाजार यानि eNAM के जरिए आदमपुर फॉर्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी के जरिए ही ग्रामीण आंचल के किसान को फायदा पहुंचा है. संजीव कुमार ने कहा कि कंपनी को ट्रेडिंग लाइसेंस दिया गया है, अच्छे प्रयास हैं. उन्होंने राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा द्वारा किसानों के उत्थान के लिए किए गए इस प्रयास की सराहना की है. साथ ही उन्होंने अधिक से अधिक किसानों को सरकारी योजनाओं से जुड़ने का आह्वान भी किया.
 
अगला टारगेट 1 करोड़ टर्न ओवर
फिलहाल आदमपुर फॉर्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी लिमेटिड के साथ लगभग 300 किसान जुड़े हुए हैं. कंपनी के डॉयरेक्टर इंद्र सिंह का कहना है कि आने वाले दिनों के इसका सालाना टर्न आवर 1 करोड़ का हो, इसके लिए वो प्रयास कर रहे हैं. किसानों को ज्यादा से ज्यादा अपने साथ जोड़ रहे हैं, ताकि सीधा उन्हें फायदा हो. टीम बनाकर जुटे हुए हैं ​और टारगेट है कि जल्द से जल्द 1 हजार किसानों को इसके साथ जोड़ा जाए.

जैसा कि आप जानते ही हैं राज्यसभा सांसद डॉ सुभाष चंद्रा हमेशा ही कुछ हटके करने की सोच रखते हैं.  इसी सोच का परिणाम ही है कि आदमपुर फॉर्मर्स प्रोड्यूसर  कंपनी, ताकि किसान का उत्थान हो और उनकी आमदन बढ़े. आपकों बता दें कि डॉ. सुभाष चंद्रा ने सदलपुर, आदमपुर, खारा बरवाला, किशनगढ़ और मंडी आदमपुर को गोद लिया हुआ है.